अरुणाचल में 60 किमी अंदर घुसी चीनी सेना: तापिर गाओ का दावा


अरुणाचल में 60 किमी अंदर घुसी चीनी सेना: तापिर गाओ का दावा

देश की सेना अगर सीमा पर ठीक से रक्षा न करे तो देश में कही से भी आतंकी शामिल हो सकते हैं या सीमा पर दखल दे सकते हैं. इस बीच खबर है कि अरुणाचल प्रदेश के एक भाजपा सांसद ने दावा किया कि चीन की सेना राज्य के सुदूर अंजाव जिले में घुस आई है और एक बरसाती नाले पर लकड़ी का अस्थाई पुल भी बना लिया है. 

 

दरअसल, भाजपा सांसद तापिर गाओ ने कहा कि चीन ने चगलगाम क्षेत्र में बरसाती नाले पर पुल बनाया है. उन्होंने यह भी कहा कि कुछ स्थानीय युवकों ने बीते मंगलवार को यह पुल देखा था. उन्होंने कहा कि चीन ने जहां घुसपैठ किया है वह जगह चगलगाम से लगभग 25 किलोमीटर पूर्वोत्तर में है, जो भारत की सीमा में है. जबकी दिल्ली सेना के प्रवक्ता ने कहा कि घुसपैठ की ऐसी कोई घटना नहीं हुई है.

 

यह भी पढ़ें: सुबह हैवी नाश्ता करने से कंट्रोल होता है वजन

 

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा को लेकर असमंजस की स्थिति है. स्थाई सीमांकन नहीं होने से दोनों ही पक्ष एक-दूसरे की सीमा में घुसपैठ की शिकायत करते हैं. लेकिन दोनों देशों के बीच कूटनीतिक संबंध बेहतर हैं और सीमा विवाद को सौहार्दपूर्ण ढंग से सुलझा लिया जाता है. 

 

इसके अलावा सेना के प्रवक्ता ने कहा कि इस इलाके में बहुत घना जंगल है. नाले और नदी के किनारों के आस-पास पैदल ही जाया जाता है. मानसून के दौरान गश्त के लिए पहाड़ी नालों पर अस्थाई पुल बनाए जाते हैं. भारतीय सेना पूरे इलाके की नियमित रूप से निगरानी करती है और करती रहेगी.

 

अंत में तापिर गाओ ने कहा कि निश्चित तौर पर वो चीन के हालिया घुसपैठ और पुल निर्माण के मुद्दे को उठाएंगे. इस विषय पर अरुणाचल सरकार की अपनी सीमा है. यह दो देशों के बीच का मामला है और इसे वो भारत सरकार की जानकारी में लाएंगे. जहां तक इस मुद्दे पर किसी तरह की कार्रवाई का सवाल है तो उस संबंध में किसी भी तरह का फैसला भारत सरकार को करना है.

 

यह भी पढ़ें: भारी उथल-पुथल के बाद आज मजबूती से खुला शेयर बाजार


 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×