जुबान बंद कर सफलता का ढिंढोरा पीटना गलत है: सुबोधकांत सहाय


जुबान बंद कर सफलता का ढिंढोरा पीटना गलत है: सुबोधकांत सहाय

केंद्र सरकार द्रारा आर्टीकल 370 हटाए जाने के बाद अभी फिलहाल जम्मू-कश्मीर की स्थिती काफी समान्य हो गई है मगर नेताओं के बयानबाजी अभी भी जारी है. कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा, ज्योतिरादित्य सिंधिया और जनार्दन द्विवेदी के बाद अब पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री सुबोधकांत सहाय ने भी आर्टिकल 370 का समर्थन किया है.

 

आर्टीकल 370 पर पार्टी का बचाव करते हुए सहाय ने कहा कि पार्टी आर्टीकल 370 हटाने का विरोध नहीं कर रही है, बल्कि पार्टी उसके हटाने के तरीके का विरोध कर रही है. इसके अलावा सुबोधकांत सहाय ने आगे कहा कि जिस तरह से मोदी सरकार कश्मीर के लोगों की जुबान बंद कर सफलता का ढिंढोरा पीट रही है, वह तरीका गलत है.

 

इसे भी पढ़ें: आज है अजा एकादशी व्रत, जानिए व्रत की कथा एवं इतिहास

 

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार देश में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एजेंडा लागू कर रही है. इसी एजेंडे के तहत आर्टीकल 370 को हटाकर सरकार कह रही है कि उसने बहुत बड़ा काम कर दिया. उन्होंने मोदी सरकार को टार्गेट करके कहा, 'आपको कश्मीरी चाहिए या फिर केवल कश्मीर का बार्डर चाहिए.

 

हम नया राज्य बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मोदी सरकार ने प्रदेश को दो भागों में बांट दिया. झारखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर उन्होंने कहा कि राज्य में बाबूलाल मरांडी की पार्टी, शिबू सोरेन, लालू यादव की पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन है.

 

इस गठबंधन को व्यापक करने के लिए वामपंथी दलों को भी साथ में लाने की कोशिश की जा रही है. सुबोध कांत सहाय ने आगे कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के सवाल पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस को गत लोकसभा चुनाव में ईवीएम ने हराया या जनता ने, यह वक्त बताएगा.

 

इसे भी पढ़ें: मात्र 20 मिनट में पाएं गोरा और चमकदार चेहरा

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×