कोरोना का दवाई मात्र 30 रूपये में बेचने वाला पकड़ा गया


कोरोना वायरस महामारी का एंटीडोज पूरे विश्व के डॉक्टर और वैज्ञानिक नही बना पारहे है, लेकिन आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले में एक ऐसा झोलाछाप डॉक्टर है जो क्षेत्रीय आदिवासी जंता को कोरोना वायरस की दवा देकर उनकी जान से खिलवाड़ कर रहा है। बता दें रेडजोंन जबलपुर से आने वाले झोलाछाप डॉक्टर अमित सुलखिया ने बीजाडांडी ब्लॉक मुख्यालय में सुलखिया नाम से दबाखाना चलाता हैं जिसके पास दवाखाना चलाने का रजिस्ट्रेशन भी नही हैं लेकिन उसके बाउजूद भी एलोपैथिक दवाओं से इलाज करता आरहा है।

 

हद तो जब हो गई कि पूरा विश्व कोरोना वायरस महामारी से जूझ रहा लेकिन ये साहब लॉकडाउन होने के बाउजूद भी जबलपुर से आकर बाहर से आने वाले मजदूरो को 30रु में कोरोना वायरस की दवा देरहा है। जिसके चलते बाहरी राज्यो व जिलों से आने वाले मजदूर सरकारी अस्पताल में अपना कोरोना टेस्ट कराने नही पहुँच रहें थे। जिसके चलते नायब तहसीलदार, बीएमओ एवं थाना प्रभारी ने इसके दबाखाने पर छापे मार कार्यवाही करी जहाँ पर तीनो अधिकारियो ने देखा कि झोला छाप डॉक्टर अमित सुलखिया अपने दो महिला कर्मियों एवं एक पुरुष के साथ मिल कर अपने दवाखाने में एलोपैथिक दवाओं से इलाज कर रहा था साथ ही कई लोगो को बॉटल भी चढ़ाता हुआ मिला।

 

तथा इसके दवाखाने के अंदर भारी मात्रा में एलोपैथिक दवाइयां भी मिली। इस दौरान इस झोलाछाप डॉक्टर के पास से नतो दवाखाना चलाने के दस्तावेज मिले और नाही डॉक्टरी से सम्बंधित कोई प्रमाणपत्र जिसके आधार पर अधिकारियों की टीम ने दवाखाने को सील कर दिया। बीएमओ डॉक्टर दिलीप अहिवार ने बताया कि ग्रामीणों और स्थानीय लोगो द्वारा हमें बार बार शिकायत मिल रही थी कि प्रावेट अस्पतालों में कोरोना ठीक करने की दवा मिल रही हैं और आप हमें दवा नही दे रहें तो हमने यह पर आकर देखा कि क्लीनिक के बाहर शीशे पर लिखा हैं 30रु में कोरोना की दवा उपलब्ध हैं। जिसके चलते यहाँ पर लोगो की भीड़ इकठ्ठी हो रही थी और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नही हो रहा था।

 

हमे यह भी पता चला कि बाहर से आने वाले मजदूरों को भी कोरोना की दवा दी जारही है जिस वजह से बाहर से आने वाले मजदूर भी हमारे पास नही आरहे थे जिस कारण क्षेत्र में कोरोना वायरस फैलने का खतरा भी बना हुआ था और इस डॉक्टर के पास में किसी भी तरह की कोई डिग्री या क्लीनिक चलाने का रजिस्ट्रेशन भी नही मिला है उसके बाबजुद ये येलो पैथिक दवाओं के जरिये लोगो का इलाज करते हुऐ पाया गया हैं जिस पर कार्यवाही कर क्लीनिक को सील किया गया हैं।

 

वही नायब तहसीदार केएल डोंगरे का कहना हैं बड़े बड़े डॉक्टर और वैज्ञानिक कोरोना की दवाई नही बना पारहे हैं अगर ये दवा बना लेते तो फेमस हो जाते इंडिया में इनके द्वारा दवाखाने के ऊपर जो विज्ञापन लगाया गया है बो फर्जी हैं। हमने इनसे पूछा आप के पास कौन कौंन सी दवाएं हैं तो इन्होंने हमारा शहयोग नही किया जिसके चलते हमने दवाखाने को सील कर दिया।

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

जैथरा: नम आँखों से दी गई BSF जवान को श्रद्धाजंलि


जैथरा: नम आँखों से दी गई BSF जवान को श्रद्धाजंलि

 

उतर प्रदेश के जैथरा थाना क्षेत्र के जवान को हजारों की तादात में बीएसएफ जवान का  पैतृक गांव नगला मोहन थाना जैथरा में अंतिम संस्कार किया गया. बीएसएफ जवान 104 बटालियन में गंगा नगर के अनूप नगर हेड कांस्टेविल पद पर तैनात थे. वहां पर बनी चौकी पर डयूटी पर तैनात थे, वह टावर से उतर रहे थे तभी उनका पैर फिसल गया. सर में चोट लगने से उनकी मौत मौके पर हो गयी. जैसे ही उनके मौत की सूचना विभाग को लगी तो सभी विभागीय अधिकारी व जवान मौके पर पहुँच गये.

 

यह घटना 10 मार्च की शाम 4 बजे की है. इसकी सूचना इनके घर बालो को फोन से दी गयी. बीएसएफ अधिकारी ने बताया कि बहा पर टावर वने होते है. वह नीचे उतर रहे थे पैर फिसल गया और उनके सर में गम्भीर चोट लग गयी और मौत हो गई.

 

खबर सुनते ही परिवार में कोहराम मच गया. परिवार के अलावा पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गयी. जो सुनता उनके पैतृक गांव की तरफ दौड़ रहा था. ग्राम नगला मोहन में सत्यपाल का पार्थिव शरीर  को  राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक  अलीगंज के थाना जैथरा के ग्राम नगला मोहन लाया गया. बीएसएफ के जवान का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ उनके गांव किया गया. उपजिलाधिकारी पीएल मौर्या, सीओ अलीगंज अजय भदौरिया, प्रसपा जिलाध्यक्ष रामकिशोर यादव, पूर्व विधायक प्रमोद यादव, रणजीत यादव, जैथरा थाना अध्यक्ष, समेत तमाम लोगो ने अंतिम संस्कार में भाग लिया. सभी ने शहीद को श्रद्धा सुमन अर्पित कर फूल माला चढ़ाई.

 

वहीं क्षेत्रीय विधायक सत्यपाल सिंह राठौर ने  परिजनों को सरकार द्वारा हर सम्भव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया. एडसीएम पीएल मौर्या ने कहा कि शासन स्तर से हर सम्भव परिजनों के लिये मदद करवाने का आश्वाशन  परिजनों को दिया. जिससे पत्नी व् वच्चो को राहत मिल सके. जो व्यकित चला गया, उनकी कमी तो पूरी नही होगी.

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

पार्क में घूमकर प्यार करने वाले ये वीडियो जरूर देखें


और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×