नहीं रहे दिग्गज वकील राम जेठमलानी, 95 की उम्र में हुआ निधन


नहीं रहे दिग्गज वकील राम जेठमलानी, 95 की उम्र में हुआ निधन

सर्वोच्च न्यायालय बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे देश के सबसे दिग्गज वकीलों में से एक रामजेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया है. वह लंबे समय से बीमार थे. वकालत की दुनिया के सबसे बड़े नामों में से एक जेठमलानी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के आरोपियों का केस लड़ने के बाद चर्चा में आए थे.

 

वह अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय कानून मंत्री और शहरी विकास मंत्री भी रहे थे. मौजूदा समय में जेठमलानी राज्यसभा के सदस्य थे. इसके अलावा वह 2010 में सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन का अध्यक्ष भी चुना गया था. राम जेठमलानी का जन्म 14 सितंबर 1923 को सिंध प्रांत के शिकारपुर में हुआ था. इनका पूरा नाम राम बूलचंद जेठमलानी था. ट्रायल कोर्ट, हाई कोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट में उन्होंने कई बड़े केस लड़े थे.

 

इसे भी पढ़ें : पीवी सिंधू पर बनेगी बायोपिक, जानें कौन एक्ट्रेस लेगी लीड रोल

 

उनका पहला सबसे चर्चित केस 1959 में आया, जब वे केएम नानावती बनाम महाराष्ट्र राज्य केस में वकील थे. रामजेठमलानी अपनी वकालत के प्रति पूरी तरह से समर्पित थे इस बात अंदाजा उनकी उम्र से लगाया जा सकता है कि वह 90 पार हो जाने के बाद भी सक्रिय रुप से वकालत कर रहे थे.

 

मुझे जेठमलानी के बारे में वाकया याद है कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान अरुण जेटली के मानहानि के केस की सुनवाई के दौरान सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य सीजेआई ने उनसे पूछा था कि आखिर आप कब रिटायर होंगे तो उन्होंने कहा था कि माई लार्ड आप यह क्यों पूछ रहे हैं कि मैं कब मरूंगा.

 

इसे भी पढ़ें : कान साफ कर दर्द मिटाने का आसान उपाय।

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×