जानें कैसे अपने शिशु को फ्लैट हेड सिंड्रोम के खतरे से बचाएं


जानें कैसे अपने शिशु को फ्लैट हेड सिंड्रोम के खतरे से बचाएं

नमस्कार दोस्तों, घरेलू नुस्खा चैनल में आपका बहुत बहुत स्वागत है। आज हम आपको बच्चों में फ्लैट हेड सिंड्रोम के घरेलू नुस्खा बताने जा रहे हैं। दोस्तों, फ्लैट हेड सिंड्रोम होने की मुख्य वजह शिशु के पहले महीने में सिर के बल सोने से होता है। जिससे सिर के एक स्थान पर सपाट हो जाता है। इस जगह को प्लैगियोसेफाली भी कहा जाता है। ऐसा तब होता है जब आपका शिशु अधिकतर पीठ के बल लेटता हैं और उसका सिर बाएं या दाहिने तरफ होता है।

 

दोस्तों, जैसा कि आप जानते हैं कि शिशु की स्कल बोन्स बहुत सॉफ्ट होती हैं और जब इस हिस्से पर प्रेशर पड़ता हैं तो सिर गोल होने के बजाय फ्लैट हो जाता है। जिससे शिशु में फ्लैट हेड सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ जाता है। आइये इसके घरेलू उपाय जानते हैं।

 

 

पेट के बल लेटाएं : इसके लिए जरूरी है कि आप अपने शिशु को पेट के बल सुलाए, जब शिशु एक महीना का हो जाये तो उसे अपने पेट पर लिटा कर सुलाएं। जब कभी अपने शिशु को आप सोते वक्त उठाते हैं तो हाथ में कोई मुलायम कपड़ा या तौलिया ले लीजिये। अब इससे शिशु के सिर को पकड़ें और हाथ का बल देकर बच्चे के सिर को उठायें।

 

करवट बदलें : जब भी शिशु सिर के बल लेटें तो उसे अधिक समय तक एक ही मोड़ में सोने न दें। उसके करवट को बदलते रहे ताकि शिशु के सिर पर दबाव न पड़े। ऐसा करने से आप अपने शिशु को फ्लैट हेड सिंड्रोम से बचा सकते हैं।

 

पालना में रखें ध्यान : जब आप अपने शिशु को पालना में रखें तो पालना की दिशा और पालने में शिशु का ध्यान रखें। इससे जब कभी आप अपने शिशु को आवाज़ दे तो वो आपको देखने के लिए मुड़े तो शिशु के सिर पर दवाब न पड़े।

 

डब्बा बंद दूध गोद में लेकर पिलायें : इसके साथ ही यह भी ध्यान रहे कि जब भी आप अपने शिशु को डब्बे से दूध दे तो उसे गोद में लेकर पिलायें। अगर आप पालना या बेड पर सिर के बल बच्चे को दूध पिलाते हैं तो इससे भी फ्लैट सिंड्रोम होने का खतरा बढ़ जाता हैं।

 

 

फ्लैट हेड सिंड्रोम, बच्चों में फ्लैट हेड, flat head syndrome, घरेलु नुस्खा, घरेलु उपचार

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×