“न्यू इंडिया” में लोगों में देश को आगे ले जाने का आत्म विश्वास बढ़ा: PMमोदी


“न्यू इंडिया” में लोगों में देश को आगे ले जाने का आत्म विश्वास बढ़ा: PMमोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज केरल के कोच्चि में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान देश में हो रहे बदलावों को लेकर चर्चा करते हुए न्यू इंडिया से लेकर सरकार द्वारा किए गए कार्यों तक को लेकर चर्चा किया. उन्होंने कहा कि आज से 5 साल पहले तक किसी ने इस बात की कल्पना भी नहीं की रही होगी कि देश में इतने बड़े पैमाने पर सुधारात्मक कदम उठाए जाएंगे. किसी ने ये सोचा भी नहीं था देश में हो रहे बदलावों को मात्र दो शब्दों में व्यक्त किया जा सकेगा.

 

पीएम मोदी कहते हैं कि 5 साल पहले लोग पूछते थे क्‍या हम कर पाएंगे, क्या हम कभी गंदगी से मुक्त हो पाएंगे, क्या हम कभी पॉलिसी पैरालिसिस को दूर कर पाएंगे, क्या हम कभी भ्रष्टाचार को खत्म करेंगे लेकिन आज लोग कहते हैं कि हम करेंगे हम स्वच्छ भारत होंगे, हम भ्रष्टाचार से मुक्त राष्ट्र होंगे. हम सुशासन को एक जन आंदोलन बना देंगे.

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार के कामकाज की तारीफ करते हुए कहा कि पहले लाइसेंस राज और परमिट राज होने से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था लेकिन अब चीजें बदल रही हैं. बहुत सारे लोग मुझसे कहते हैं कि योजनाएं और धन तो पहले भी था, फिर आपने अलग क्या किया. हमारी सरकार ने तेज गति से गरीबों के लिए 1.5 करोड़ से अधिक घर बनाए हैं. पिछली सरकार की तुलना में यह किया गया बड़ा सुधार है.

 

इसे भी पढ़ें: दीपा मलिक और बजरंग पूनिया को मिला राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार

 

नए भारत में केवल देश के भीतर रहने वाले लोगों की देखभाल करना ही हमारा लक्ष्य नहीं हमारी प्राथमिकता प्रवासी भारतीयों की भी सुरक्षा है जो कि देश के आर्थिक विकास में अपना अहम योगदान रखते हैं. पीएम मोदी प्रवासी भारतीयों को देश का गौरव बताते हैं और कहते हैं कि प्रवासी भारतीय ही देश के विकास के पहिए को रफ्तार देने का काम करते हैं.

 

गौरतलब है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में भारत की विदेश नीति सबसे अहम रही है  जिसके तहत कई ऐसे मौके आए जब विदेशों में फंसे प्रवासी भारतीयों को बचाने के लिए भारत सरकार ने पूरा जो लगा दिया था. फिर चाहे वह यमन में किया गया सबसे बड़ा रेस्क्यू ऑपरेशन हो या फिर सऊदी में फंसे व्यक्ति की मदद करना हो. इस मामले में पूर्व विदेशमंत्री सुषमा स्वराज के कार्यों को सबसे ज्यादा याद किया जाता है.

 

उन्होंने अपने विदेश मंत्री रहते हुए विदेश मंत्रालय के कामकाज के तरीकों को पूरी तरह से बदल कर रख दिया. उनके ही कार्यकाल में विदेश मंत्रालय़ के दरवाजे आम आदमी के लिए खुले.

 

इसे भी पढ़ें: जानिए मात्र 4 घंटे में कोलेस्ट्रॉल कम कैसे करें

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×