मोटेरा स्टेडियम के लिए रवाना हुए मोदी-ट्रंप


मोटेरा स्टेडियम के लिए रवाना हुए मोदी-ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनेर के साथ अहमदाबाद पहुंच चुके हैं। जहां प्रधानमंत्री मोदी ने प्रोटोकॉल तोड़कर ट्रंप का स्वागत किया। अहमदाबाद एयरपोर्ट से सीधे साबरमती आश्रम के लिए रवाना हुए। 

 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और मेलानिया ने साबरमती आश्रम में चरखा चलाया।   महात्मा गांधी ने 1917 में  इस आश्रम की स्थापना की थी। मेलानिया और ट्रंप ने विजिटर्स पुस्तिका में संदेश भी लिखा। जिसमे डोनाल्ड ट्रम्प ने मोदी को अपना महान मित्र बताते हुए शुक्रिया अदा किए है। प्रधानमंत्री मोदी ने आश्रम में दोनों का शानदार स्वागत किया।
 


मोटेरा स्टेडियम के लिए रवाना हुए मोदी-ट्रंप
ट्रंप ने साबरमती आश्रम की आगंतुक पुस्तिका में लिखा, 'मेरे अच्छे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, शानदार यात्रा के लिए धन्यवाद।' इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी पत्नी मेलानिया के साथ मोटेरा स्टेडियम के लिए रवाना हो गए हैं। वह यहां नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। आपको बता दे की स्टेडियम में पहले से ही अमित शाह, गौतम गंभीर समेत कई हस्ती पहले से मौजूद हैं। 
 

पांचवी बार ट्रंप से मिले मोदी
आपको बताते चले की मोदी और ट्रंप ने सोमवार को पांचवी बार मुलाकात की। ट्रंप दो बार मोदी का वाशिंगटन में स्वागत कर चुके हैं। वहीं पिछले साल ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम में पहुंच कर उन्होंने अपने सहयोगियों को चौंका दिया था। वहीं मोदी को पहली बार ट्रंप का भारत में स्वागत करने का मौका मिला है। इस यात्रा से दोनों देशों के रिश्तों और मजबूत होंगे।
 

 

 

donald trump,modi trump,trump,pm modi,namaste trump,trump india visit,narendra modi,modi,trump in india,donald trump india visit,trump india,trump modi meet,melania trump,ivanka trump,pm narendra modi,trump modi,howdy modi,modi trump live,modi trump news,prime minister narendra modi,modi meeting trump,narendra modi trump,modi trump roadshow,modi trump ahmedabad,modi trump friendship,modi trump latest meet

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

बेबाक पत्रकार रवीश कुमार को मिला ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार


बेबाक पत्रकार रवीश कुमार को मिला ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार

हिंदी पत्रकारिता जगत में अपनी अलग पहचान बना चुके NDTV के रवीश कुमार को बेस्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया है. ये अवार्ड 2019 के ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इस अवार्ड को ‘रैमॉन मैगसेसे’ को एशिया का नोबेल पुरस्कार के नाम से जाना जाता है. यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैगसेसे की याद में दिया जाता है.

आपको बता दें कि, सम्मान के लिए पुरस्कार संस्था ने ट्वीट कर बताया कि रवीश कुमार को यह सम्मान “बेआवाजों की आवाज बनने के लिए दिया गया है.” रवीश कुमार का कार्यक्रम ‘प्राइम टाइम’ ‘आम लोगों की वास्तविक, अनकही समस्याओं को उठाता है.” साथ ही प्रशस्ति पत्र में कहा गया की, ‘अगर आप लोगों की अवाज बन गए हैं, तो आप पत्रकार हैं.’ 

आपको बता दें कि, रवीश कुमार ऐसे छठे पत्रकार हैं जिनको यह पुरस्कार मिला है. इससे पहले अमिताभ चौधरी (1961), बीजी वर्गीज (1975), अरुण शौरी (1982), आरके लक्ष्मण (1984), पी. साईंनाथ (2007) को यह सम्मान मिल चुका है.

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

28,000 और जवानों को कश्मीर में किया गया तैनात, हाई अलर्ट पर फोर्सेज


28,000 और जवानों को कश्मीर में किया गया तैनात, हाई अलर्ट पर फोर्सेज

हाल ही में जम्मू कश्मीर में 10,000 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती के एक हफ्ते के भीतर बड़ा कदम उठाते हुए मोदी सरकार ने कश्मीर 28,000 और अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती कर दिया है. इसके साथ ही सरकार ने सेना और वायुसेना को ऑपरेशनल अलर्ट पर रहने को कहा है.

जिसके चलते स्थानीय नागरिकों में पहचल शुरु हो गई है और लोगों ने तेजी से राशन पानी जुटाना शुरु कर दिया है. इस बीच राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने सरकार के इस अप्रत्याशित कदम पर ट्वीट कर कहा कि “ऐसी कौन सी वर्तमान परिस्थिति है जिसके चलते केंद्र सरकार ने सेना और वायुसेना को ऑपरेशनल अलर्ट पर ऱखा हुआ है, निश्चित तौर पर यह मामला 35ए अथवा परिसीमन से जुड़ा नहीं हैं. अगर सच में इस तरह का कोई अलर्ट जारी किया गया है तो यह बिल्कुल अलग चीज है.”

खास बात यह है कि इन सभी सुरक्षाबलों की राज्य के अति संवेदनशील माने जाने वाले इलाकों में भारी मात्रा में तैनाती की गई हैं. इसके अलावा राज्य के सभी जगहों पर अर्धसैनिक बलों ने कब्जा कर लिया है और प्रदेश पुलिस सिर्फ प्रतीकात्मक बन कर रह गई है.

घाटी में इतनी अधिक मात्रा में सुरक्षाबलों की तैनाती को लेकर हमारे सूत्रों का कहना है कि सरकार 370 और 35ए को लेकर कुछ बड़ा करने की तैयारी कर रही है. हालांकि सरकार का कहना है कि सीमापार से आतंकवादी कश्मीर में बड़ा हमला करने की फिराक में हैं जिसके मद्देनजर किया है.

लेकिन राजनीति के जानकारों का मानना है कि सरकार यह सब ध्यान भटकाने के लिए कह रही है जबकि असल में सरकार कुछ अलग और बड़ा करने की तैयारी कर रही है.

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×