रुस में मोदी को याद आए अटल बिहारी वाजपेयी, देखें 18 साल पुरानी तस्वीर


रुस में मोदी को याद आए अटल बिहारी वाजपेयी, देखें 18 साल पुरानी तस्वीर

पिछले कुछ समय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दुनिया के महत्वपूर्ण देशों के सर्वोच्च नागरिक सम्मान का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा है. फिलहाल PM नरेंद्र मोदी बीते बुधवार से रूस के दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया.

 

राष्ट्रपति पुतिन के साथ साझा बयान में उन्होंने पहले सम्मेलन को याद करते हुए कहा कि वर्ष 2001 में इसकी शुरुआत हुई थी. उन्होंने कहा, 'उस समय पुतिन राष्ट्रपति थे और मैं अटल जी के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर आया था. इसके बाद हम दोनों की दोस्ती का सफर आगे बढ़ा.' 

 

पीएम मोदी ने 2001 के पहले शिखर सम्मेलन को याद करते हुए कुछ तस्वीरें भी ट्वीट कीं. जो इस समय सोशल मीडिया पर चर्चें का विषय बना हुआ है. आपको बता दें कि PM मोदी ने एक तस्वीर साझा कि जिसमें वह पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी के बगल बैठे हैं और दूसरी तरफ राष्ट्रपति पुतिन बैठे हैं.

 

यह भी पढ़ें: भारी उथल-पुथल के बाद आज मजबूती से खुला शेयर बाजार

 

इसके अलावा एक और तस्वीर में राष्ट्रपति पुतिन और अटल बिहारी वाजपेयी बयान दे रहे हैं. कुर्सी के पीछे मोदी और जसवंत सिंह खड़े हैं. जसवंत सिंह उस समय विदेश मंत्री थे. PM मोदी ने लिखा, '20वें भारत-रूस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेते वक्त मुझे 2001 याद आ रहा था जब अटल जी PM थे और मुझे गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में प्रतिनिधि मंडल में शामिल किया गया था.' 

 

गौरतलब है कि दो घंटे चले सम्मेलन में कई समझौते हुए विदेश मंत्रालय के अनुसार तेल औऱ गैस, रक्षा, खनन, हवाई और समुद्री कनेक्टिविटी, न्यूक्लियर एनर्जी, ट्रांसपॉर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर, व्यापार ओर निवेश संबंधी विषयों पर बात हुई.  इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा की, 'पुतिन ने मुझे अपने देश का सबसे बड़ा नागरिक सम्मान देने का फैसला किया. इसके लिए हम आपका और रूस के लोगों का आभारी हैं. यह दोनों देशों के बीच विशेष मैत्रीपूर्ण संबंधों को दर्शाता है. यह 1 अरब 30 करोड़ भारतीयों के लिए बहुत सम्मान का विषय है.'

 

यह भी पढ़ें: खूबसूरती चाहिए तो भीगा बादाम खाएं

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×