फलस्तीन : लाशो कि गिनती कराकर बच्चो को पढ़ाया जाता है गणित


फलस्तीन : लाशो कि गिनती कराकर बच्चो को पढ़ाया जाता है गणित

आतंक पीड़ित देशों में मानवीय सहायता के लिए दी जा रही भारी-भरकम रकम का बहुत गलत इस्तेमाल हो रहा है। इसका ताजा उदाहरण फलस्तीन और गाजा पट्टी से सामने आया है। वहां बच्चों की शिक्षा के लिए दिए गए पैसों से उन्हें आतंकवाद और जिहाद के लिए तैयार किया जा रहा है। इसका खुलासा होने के बाद से इस मदद पर रोक लगाने की मांग जोर पकड़ रही है।

 

विदेशी सुत्रो से मिली जानकारी के अनुसार,वहाँ बच्चों को गणित सिखाने के लिए मारे गए आतंकियों की गिनती कराई जा रही है। बच्चो के किताबो मे आतंकीयो के जनाजे का फोटो छपा रहता है। वहीं, फिजिक्स की किताब में न्यूटन का तीसरा नियम बताने के लिए विधर्मियों (ईसाइयों और हिंदुओं) यानी इस्लाम को न मानने वालों को गुलेल मारने की मिसाल दी गई है। 

 


इन सभी क्रियाकलापों से यह स्पष्ट पता चलता है कि फलस्तीन, गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक में बच्चों के दिमाग में किस कदर दूसरे धर्म के मानने वालों के खिलाफ जहर भरा जा रहा है।ब्रिटेन की वेबसाइट में छपी खबर में बताया गया है कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा फलस्तीन और गाजा पट्टी को दी जा रही मदद में ब्रिटेन के करदाताओं का भी पैसा लगा है। इसके मद्देनजर इस तरह की मदद पर रोक लगाने की मांग की गई है। 

 

फलस्तीन, गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक में आठ साल के बच्चों के लिए एक कविता में ऐसी बातें लिखी गई हैं जो उसके अपरिवक्व मन पर बुरा असर डालेगी। इस कविता में ` अपने खून का बलिदान देना`, `अपने देश पर कब्जा करने वालों को खत्म करना` और `विदेशियों का अस्तित्व मिटा देना` जैसे मुहावरों का इस्तेमाल किया गया है। जबकि ऐसे शब्दो से बच्चो को कोशों दुर रखा जाता है। 

 

 

कौन करता है इनकी मदद
फलस्तीन, गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक को मानवीय सहायता के नाम पर यह मदद यूनाइटेड नेशंस रिलीफ एंड वर्क्स एजेंसी फॉर पैलेस्टाइन रिफ्यूजीज के जरिए दी जाती है। इस काम के लिए यूएनआरडब्ल्यूए को ब्रिटेन सहित कई देश वित्तीय मदद मुहैया कराते हैं। बता दें कि फलस्तीन में बच्चों को पढ़ाई जा रही किताबों का हवाला देकर अमेरिका और यूरोपीय यूनियन ने यूएनआरडब्ल्यूए को मदद देने बंद कर दिया है। 

 


गौरतलब है कि इजरायल और फलस्तीन कई दशकों से एक-दूसरे पर आक्रमण करते आ रहे हैं। इजरायल यहूदी बहुल देश है जबकि फलस्तीन, गाजा पट्टी और वेस्ट बैंक में अरब आबादी बहुतायत में है। इजरायल को अमेरिका को राजनीतिक और आर्थिक मदद मिलती है वहीं, फलस्तीन को अरब देशों और दूसरे मुस्लिम मुल्कों का समर्थन हासिल है

 

 

Mathematics is taught to children by counting the dead bodies, फलस्तीन, गाजा पट्टी, वेस्ट बैंक, मानयूनाइटेड नेशंस रिलीफ एंड वर्क्स एजेंसी फॉर पैलेस्टाइन रिफ्यूजीज, अमेरिका, यूरोपीय, यूनियन, यूएनआरडब्ल्यूए, इजरायल, यहूदी, अरब, यहूदी, न्यूटन, london

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

समझौता एक्सप्रेस को पाकिस्तान ने रोका! कहा, ‘ले जाओ अपनी ट्रेन’


समझौता एक्सप्रेस को पाकिस्तान ने रोका! कहा, ‘ले जाओ अपनी ट्रेन’

केंद्र सरकार के बड़े फैसले के बाद पाकिस्तान इसके विरोध पर उतर आया है. पाकिस्तन में इस समय चारों तरफ आर्टिकल 370 का विरोध प्रदर्शन जारी है. इसी घटनाक्रम में पाकिस्तान ने पहले तो हिंदुस्तान के साथ होने वाले व्यापार पर रोक लगाई और उसके बाद दोनों देशों के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को रोक दिया है. हालंकी ये सब करने से पाकिस्तान के ही अधिक नुकसान होने वाला है.

आपको बता दें कि, समझौता एक्सप्रेस ये वो ट्रेन है जो भारत-पाक को आपस में जोड़ने की काम करती है. अभी कुछ माह पहने पाकिस्तान ने बालाकोट भारतीय एयरस्ट्राइक के बाद इस ट्रेन पर रोक लगाई थी लेकिन मई में ये ट्रेन सेवा फिर चालू की गई थी. 

एकता कपूर ने बालाजी टेलीफिल्म्स के साथ 25 साल किये पूरे

मगर इस बार फिर जब जम्मू-कशमीर से आर्टिकल 370 हटाया गया तो पाक ने इस बार फिर इस सेवा पर रोक लगा दी है. इससे पहले 13 दिसंबर 2001 को संसद पर हमले के बाद समझौता एक्सप्रेस रोक दी गई थी. 27 दिसंबर 2007 को बेनजीर भुट्टो हमले के बाद इस ट्रेन को रोक दिया गया था. samjhauta express india pakistan

गौरतलब है कि, समझौता एक्सप्रेस का इतिहास 43 वर्ष पुराना है. इसकी नींव 1971 के भारत-पाक युद्ध के बाद हुए दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों PM इंदिरा गांधी और जुल्फिकार अली भुट्टो के बीच हुए शिमला समझौता में पड़ी. समझौता एक्सप्रेस भारत-पाक के बीच चलने वाली ट्रेन है. भारत में यह ट्रेन दिल्ली से पंजाब स्थित अटारी तक जाती है. samjhauta express india pakistan

अटारी से वाघा बॉर्डर तक तीन किलोमीटर की सीमा पार करती है. इस दौरान BSF के जवान घोड़ागाड़ी से इसकी निगरानी करते हैं. आगे-आगे चलकर पटरियों की पड़ताड़ भी करते चलते है. सीमा पार करने के बाद यह ट्रेन पा‌किस्तान के लाहौर जाती है. 

जिम जाने वालों, घर पर प्रोटीन पाउडर बनाने के उपाय।

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

नवाज शरीफ से मिलते वक्त बेटी मरियम हुई गिरफ्तार


नवाज शरीफ से मिलते वक्त बेटी मरियम हुई गिरफ्तार

पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ की मुश्किले कम होने का नाम नहीं ले रही है. दरअसल, आय से अधिक संपत्ति के मामले में जेल की सजा काट रहे पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज को आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

खबरों द्रारा बताया जा रहा है की जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 लागू होने के मरियम ने इमरान खान को जमकर खरी खोटी सुनाई थी. इसके अलावा नवाज शरीफ की बेटी ने कहा था कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर मध्यस्थता की बात करके इमरान को मूर्ख बना दिया. इमरान इस बात का अनुमान ही नहीं लगा पाए कि भारत की योजना क्या है? nawaz sharif daughter maryam

घाटी में आत्मघाती हमले की फिराक में आतंकी

आपको बता दें कि, मरियम को पुलिस ने जेल में उस वक्त ही गिरफ्तार कर लिया. जब मरियम अपने पिता नवाज शरीफ से मिलने लाहौर की कोट लखपत जेल गई थीं.

बता दें कि, मरियम इस समय पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष हैं. फिलहाल मरियम को एनएबी मुख्यालय ले जाया गया है, जहां पुलिस उनसे पूछताछ करेगी. nawaz sharif daughter maryam

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×