जनता के पैसों से जनता को ही गुमराह कर रहे हैं केजरीवाल - मनोज तिवारी


जनता के पैसों से जनता को ही गुमराह कर रहे हैं केजरीवाल - मनोज तिवारी

भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आज केजरीवाल सरकार द्वारा दिल्ली के तमाम बड़े अखबारों में सरकारी खर्च पर विज्ञापन देकर पूरी दिल्ली में 2,80,000 सीसीटीवी कैमरें लगाने की बात को सफेद झूठ करार देते हुये कहा कि विज्ञापनों पर भारी खर्च कर केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को गुमराह कर रही है।

 

विज्ञापन पर खर्च की जाने वाली रकम भी दिल्ली की जनता के टैक्स से वसूली गई है। स्पष्ट है जनता के पैसों से जनता को गुमराह करने की कोशिश केजरीवाल सरकार द्वारा की जा रही है। जबकि सत्य इसके ठीक विपरीत है सीसीटीवी कैमरे पूरी दिल्ली में लगने तो दूर, क्षेत्र में कहीं भी कैमरे देखने को नहीं मिलते हैं और जहां कैमरे इंस्टाल किये भी गये हैं या तो वो खराब हैं या फिर उनकी मेनटिनेन्स को लेकर कोई पुख्ता इन्तजाम नहीं किया गया है।

 

फ़िल्म "छिछोरे" का बहुप्रतीक्षित 'दोस्ती स्पेशल ट्रेलर' हुआ रिलीज!

 

साथ ही तिवारी ने कहा कि सीसीटीवी कैमरें को लेकर विज्ञापनों पर जितना खर्च किया जा रहा है उतनी ही रकम में तो दिल्ली भर में कैमरे लगाये जा सकते थे। आम आदमी पार्टी की सरकार को जो सीसीटीवी कैमरे पहले या दूसरे साल में लगाने थे उसे साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल के बीत जाने के बाद नहीं लगाये गये, आज भी उसके लक्ष्य को लेकर केवल विज्ञापन किया जा रहा है जो यह स्पष्ट करता है कि ये सब अगामी विधानसभा चुनावों को देख कर किया गया मात्र एक नाटक है। दिल्ली के सभी सांसदों ने अपने अपने क्षेत्र में केन्द्र सरकार की सहायता से दिल्ली के विकास के लिए काम किया।

 

लेकिन केजरीवाल सरकार ने जनता के हितों में हो रहे कामों में राजनीति करते हुये बाधा पहुंचाने की बार बार कोशिश की। दिल्ली के खजाने को अपनी निजी संम्पति समझकर जनता के पैसों का राजनीतिक दोहन आम आदमी पार्टी ने किया है। मनोज तिवारी ने यह भी कहा कि सत्ता का हर पल दुरूपयोग कर अपने झूठे एजेण्डा को जनता के बीच प्रसारित करने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर केजरीवाल सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया है कि उसे जनता के हितों की कोई परवाह नहीं है।

 

दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी को प्रचण्ड बहुमत के साथ दिल्ली की सत्ता में बिठाया 67 विधायकों के साथ सरकार ने अपना कार्यकाल शुरू किया था, लेकिन आज की स्थिती में जनता से किये एक भी वादे को पूरा न करने के कारण, सत्ता में बने रहने के लिए हर दिन नये झूठ को प्रसारित करने के कारण और केजरीवाल के तानाशाही रवैये के कारण आम आदमी पार्टी के आधा दर्जन से ज्यादा विधायक पार्टी छोड़ चुके हैं या फिर निलंबित कर दिये गये है। स्वस्थ व स्वच्छ दिल्ली की कल्पना हर दिल्लीवासी चाहता है लेकिन साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली को प्रदूषण के जहर से मुक्त करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है।

 

10 मिनट में इतने गोरे हो जाएंगे की खुद को नही पहचान पाएंगे

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×