“मध्यप्रदेश वाइरस” की महाराष्ट्र में इंट्री नहीं,  यहां कोई ऑपरेशन सफल नहीं होगा- संजय राउत


“मध्यप्रदेश वाइरस” की महाराष्ट्र में इंट्री नहीं,  यहां कोई ऑपरेशन सफल नहीं होगा- संजय राउत

 

मध्यप्रदेश में राजनीति हलचल का सिलसिला रूकने का नाम नहीं ले रहा है. मध्यप्रदेश में सरकार को लेकर नए-नए दावे सामने आ रहे है और इन सब के बीच सबसे बुरी खबर कांग्रेस पार्टी के लिए ये कि कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज भाजपा ज्वाइन कर ली है जिससे कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. वहीं मध्य प्रदेश की राजनीति में जारी हलचल और कमलनाथ सरकार के गिरने के आसार लगाए जाने के बीच अन्य राज्यों में भी राजनीति पार्टियां सतर्क हो गई है.

 

दरअसल, मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार गिरने के कगार पर है क्योंकि राज्य में कांग्रेस के 22 विधायकों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के पार्टी छोड़ने के बाद मंगलवार को इस्तीफा दे दिया. इन सब के बीच महराष्ट्र में महराष्ट्र महाविकाश अघाड़ी की सरकार ने मध्यप्रदेश में जारी राजनीतिक हलचल को लेकर बयान दिया है. शिवसेना नेता संजय राउत ने भरोसा जताया कि उनकी पार्टी के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार सुरक्षित है और ‘मध्यप्रदेश वायरस’ पश्चिमी राज्य में प्रवेश नहीं करेगा.

 

गौरतलब है कि शिवसेना महाराष्ट्र में राकांपा और कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार चला रही है. शिवसेना नेता संजय राउत ने मराठी में ट्वीट किया और कहा कि  ‘मध्यप्रदेश वायरस महाराष्ट्र में नहीं घुसेगा. महाराष्ट्र की सत्ता अलग है। 100 दिन पहले एक अभियान विफल हो गया था. महा विकास अघाड़ी ने बाईपास सर्जरी की और महाराष्ट्र को बचाया. राउत ने कहा कि भाजपा ने महाराष्ट्र में भी सरकार बनाने की कोशिश की, लेकिन असफल रही. यहां ऐसा कोई ऑपरेशन सफल नहीं होगा. हमारे जैसे सर्जन यहां ऑपरेशन थिएटर में बैठे हैं. अगर कोई ऐसा करने के लिए आता है, तो खुद उसका ऑपरेशन हो जाएगा.

 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में वर्तमान में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन की सरकार है और भाजपा महाराष्ट्र में मुख्य विपक्षी दल है. हालांकि महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा बहुमत के आकड़ें से ज्यादा दूर नहीं है पर जैसी राजनीतिक उथल- पुथल फिलहाल मध्य प्रदेश में देखने को मिल रही है उसने कई कयास लगाए जा रहे है और राजनीति के गलियारों में इसकी चर्चा जोरों पर है.  

 

politics news,national,Sanjay Raut on MP Political Crisis, Sanjay Raut on Madhya Pradesh Political Crisis,Madhya Pradesh, Sanjay Raut,News,National News

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

बेबाक पत्रकार रवीश कुमार को मिला ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार


बेबाक पत्रकार रवीश कुमार को मिला ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार

हिंदी पत्रकारिता जगत में अपनी अलग पहचान बना चुके NDTV के रवीश कुमार को बेस्ट अवार्ड से सम्मानित किया गया है. ये अवार्ड 2019 के ‘रैमॉन मैगसेसे’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इस अवार्ड को ‘रैमॉन मैगसेसे’ को एशिया का नोबेल पुरस्कार के नाम से जाना जाता है. यह पुरस्कार फिलीपीन्स के भूतपूर्व राष्ट्रपति रैमॉन मैगसेसे की याद में दिया जाता है.

आपको बता दें कि, सम्मान के लिए पुरस्कार संस्था ने ट्वीट कर बताया कि रवीश कुमार को यह सम्मान “बेआवाजों की आवाज बनने के लिए दिया गया है.” रवीश कुमार का कार्यक्रम ‘प्राइम टाइम’ ‘आम लोगों की वास्तविक, अनकही समस्याओं को उठाता है.” साथ ही प्रशस्ति पत्र में कहा गया की, ‘अगर आप लोगों की अवाज बन गए हैं, तो आप पत्रकार हैं.’ 

आपको बता दें कि, रवीश कुमार ऐसे छठे पत्रकार हैं जिनको यह पुरस्कार मिला है. इससे पहले अमिताभ चौधरी (1961), बीजी वर्गीज (1975), अरुण शौरी (1982), आरके लक्ष्मण (1984), पी. साईंनाथ (2007) को यह सम्मान मिल चुका है.

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

28,000 और जवानों को कश्मीर में किया गया तैनात, हाई अलर्ट पर फोर्सेज


28,000 और जवानों को कश्मीर में किया गया तैनात, हाई अलर्ट पर फोर्सेज

हाल ही में जम्मू कश्मीर में 10,000 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती के एक हफ्ते के भीतर बड़ा कदम उठाते हुए मोदी सरकार ने कश्मीर 28,000 और अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती कर दिया है. इसके साथ ही सरकार ने सेना और वायुसेना को ऑपरेशनल अलर्ट पर रहने को कहा है.

जिसके चलते स्थानीय नागरिकों में पहचल शुरु हो गई है और लोगों ने तेजी से राशन पानी जुटाना शुरु कर दिया है. इस बीच राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने सरकार के इस अप्रत्याशित कदम पर ट्वीट कर कहा कि “ऐसी कौन सी वर्तमान परिस्थिति है जिसके चलते केंद्र सरकार ने सेना और वायुसेना को ऑपरेशनल अलर्ट पर ऱखा हुआ है, निश्चित तौर पर यह मामला 35ए अथवा परिसीमन से जुड़ा नहीं हैं. अगर सच में इस तरह का कोई अलर्ट जारी किया गया है तो यह बिल्कुल अलग चीज है.”

खास बात यह है कि इन सभी सुरक्षाबलों की राज्य के अति संवेदनशील माने जाने वाले इलाकों में भारी मात्रा में तैनाती की गई हैं. इसके अलावा राज्य के सभी जगहों पर अर्धसैनिक बलों ने कब्जा कर लिया है और प्रदेश पुलिस सिर्फ प्रतीकात्मक बन कर रह गई है.

घाटी में इतनी अधिक मात्रा में सुरक्षाबलों की तैनाती को लेकर हमारे सूत्रों का कहना है कि सरकार 370 और 35ए को लेकर कुछ बड़ा करने की तैयारी कर रही है. हालांकि सरकार का कहना है कि सीमापार से आतंकवादी कश्मीर में बड़ा हमला करने की फिराक में हैं जिसके मद्देनजर किया है.

लेकिन राजनीति के जानकारों का मानना है कि सरकार यह सब ध्यान भटकाने के लिए कह रही है जबकि असल में सरकार कुछ अलग और बड़ा करने की तैयारी कर रही है.

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×