चाँद से सिर्फ कुछ दुरी पर लैंडर विक्रम, अब बस चाँद पर उतरने का इंतज़ार


चाँद से सिर्फ कुछ दुरी पर लैंडर विक्रम, अब बस चाँद पर उतरने का इंतज़ार

ISRO ने एक और बड़ी सफलता हासिल करते हुए बुधवार को चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम को चंद्रमा की सबसे निचली कक्षा में उतारने का दूसरा  चरण भी सफलतापूर्वक पूरा कर लिया। इसरो के वैज्ञानिकों ने तड़के 3:42 बजे ऑन बोर्ड पोपल्‍शन सिस्‍टम का इस्‍तेमाल करते हुए लैंडर विक्रम को चंद्रमा की सबसे निचली कक्षा में उतार दिया। बतादे की आज से दो दिन पहले ही ISRO ने 'लैंडर विक्रम' को ऑर्बिटर से अलग करके पूरी दुनिया को अपना कमाल दिखाया था।

 

लैंडर विक्रम को चंद्रमा की सबसे नजदीकी कक्षा में उतारने में ISRO के वैज्ञानिको को कुल 9 सेकंड लगे और यह कार्य बुधवार को तड़के तीन बजकर 42 मिनट पर सफलतापूर्वक पूरा किया गया। अब अगले तीन दिनों तक लैंडर विक्रम चांद के सबसे नजदीकी कक्षा 35x97 किलोमीटर में चक्कर लगाता रहेगा। इन तीन दिनों तक विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर की जांच की जाती रहेगी।

 

इसे भी पढ़ें: 'I Love Kejriwal' कैम्पेन चलाने पर मनोज तिवारी का बयान

 

chandrayaan 2

 

अब इंतज़ार है 7 सितम्बर का जब ISRO रचेगा इतिहास और पूरे विश्व में बजेगा हिंदुस्तान का डंका। योजना के मुताबिक यदि सब कुछ ठीक रहा तो लैंडर विक्रम और उसके भीतर मौजूद रोवर प्रज्ञान के सात सितंबर को देर रात एक बज कर 30 मिनट से दो बज कर 30 मिनट के बीच चंद्रमा के सतह पर उतरने की उम्मीद है। चंद्रमा की सतह पर उतरने के बाद लैंडर विक्रम से रोवर प्रज्ञान उसी दिन सुबह पांच बज कर 30 मिनट से छह बज कर 30 मिनट के बीच निकलेगा।

 

चंद्रयान-2 भारत के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है जो की भारत का नाम पूरे विश्व में रोशन कर रही है। लैंडर विक्रम का चाँद पर उतरने का देश में ही नहीं बल्कि पुरे विश्व में बेसब्री से इंतज़ार किया जा रहा है। लैंडर विक्रम का चाँद पर सफलतापूर्वक लैंड करना वैज्ञानिको के लिए एक बहुत बड़ी जीत साबित होगी।

 

इसे भी पढ़ें: आँखों से चश्मा हटाने व नींद की बीमारी का रामबाण इलाज

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×