आज मनाई जा रही है कृष्ण जन्माष्टमी, जानिए व्रत की कथा एवं इतिहास


आज मनाई जा रही है कृष्ण जन्माष्टमी, जानिए व्रत की कथा एवं इतिहास

पौराणिक धर्म ग्रंथो के अनुसार भगवान श्री कृष्ण जी का जन्म भाद्रपद की कृष्ण पक्ष में अष्टमी की अर्धरात्रि को रोहिणी नक्षत्र में देवकी तथा वासुदेव जी के पुत्ररूप में हुआ था। इसी उपलक्ष्य में प्रत्येक वर्ष भगवान श्री कृष्ण जी की जन्म जयंती मनाई जाती है।

 

तदनुसार इस वर्ष 24 अगस्त 2019 को मनाई जाएगी। यह त्यौहार समस्त भारत वर्ष में अति उत्साह एवं उमंग से मनाया जाता है। पौराणिक संदर्भ के दृष्टि से भगवान श्री कृष्ण जी ने द्वापर युग में समस्त पापो का नाश एवं धर्म की स्थापना करने के लिए स्वंय अवतरित हुए थे।

 

स्कन्द पुराण के अनुसार राजा उग्रसेन द्वापर युग में मथुरा राज्य में राज करते थे। राजा उग्रसेन को उनके पुत्र कंश ने उन्हें राजगद्दी से हटाकर स्वंय मथुरा राज्य का राजा बन गया। कंस को बहन देवकी से अपार स्नेह था इसके लिए कंस ने बहन देवकी का विवाह यदुवंशी सरदार वासुदेव से करा दिया।

 

पूरी कथा पढ़ें: जन्माष्टमी व्रत कथा

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×