जानिये सहवाग ने अपने बेटे को लेकर क्या कहा


जानिये सहवाग ने अपने बेटे को लेकर क्या कहा

आज के समय में हर इंसान चाहता है कि मेरा बेटा पढ़ लिखकर एक विद्रान बने. चाहे वह बेटा या बेटी किसी फिल्मी दुनीया के किसी ऐक्टर का हो या फिर किसी क्रिकेटर का बेटा हो या फिर कोई गरीब मां-बाप का बेटा हो. इस बीच खबर है कि भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद अब सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं. जहां अब अपने बेटों आर्यवीर और वेदांत के करियर को लेकर बड़ी टिप्पणी की है. सहवाग का बड़ा बेटा आर्यवीर 12 और छोटा बेटा वेदांत 9 वर्ष के हैं.

 

बता दें कि वीरेंद्र सहवाग से उनके बेटों को लेकर कुछ सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, 'मैं उनमें एक और वीरेंद्र सहवाग नहीं देखना चाहता हूं. वे विराट कोहली, हार्दिक पंड्या या फिर एमएस धोनी बन सकते हैं. मगर उन्हें क्रिकेटर बनना जरूरी नहीं है. वे अपना करियर चुनने के लिए आजाद हैं और हम लक्ष्य तक पहुंचने में उनकी हरसंभव मदद करेंगे. मगर सबसे अहम बात एक अच्छा इंसान बनना है और इस बात से कोई समझौता नहीं किया जा सकता.'

 

Breaking News : क्रिश गेल ने टी20 मैच से लिया सन्यास

 

वीरेंद्र सहवाग आउटलुक से बातचीत में कहा कि, 'आज मेरे पास जो कुछ भी है वो क्रिकेट ने मुझे दिया है. जब मैं दिल्ली क्रिकेट में जगह बनाने की कोशिश कर रहा था, तब मुझे अक्सर नजफगढ़ से कई घंटे का सफर तय करके जाना होता था. मेरा जन्म और परवरिश नजफगढ़ में ही हुई. क्रिकेट ने मेरी रोजी-रोटी का इंतजाम किया और अब समाज को कुछ वापस देने का वक्त आ गया है. स्वस्‍थ जीवन के लिए अच्छा भोजन आवश्यक है.'

 

आगे वीरेंद्र सहवाग बताते हैं कि, हरियाणा के झज्जर में अपने स्कूल सहवाग इंटरनेशनल स्कूल में भी काफी वक्त बिताते हैं. अपने बड़े बेटे आर्यवीर के बारे में सहवाग ने कहा, 'वह 2020 में 13 वर्ष के हो जाएंगे और टीनएजर को नियंत्रित करना आसान काम नहीं है. हम जितना अधिक हो सके उतना वक्त बच्चों के साथ बिताते हैं. जब मैं सफर में होता हूं तो उन्हें बहुत याद करता हूं. हमें अहसास है कि जब बच्चे बड़े हो जाएंगे तो वे हमारे साथ वक्त नहीं बिताएंगे, इसीलिए ये ही हमारा सबसे अच्छा वक्त है.'

 

गौरतलब है कि, वीरेंद्र सहवाग अपने करियर में 3 वनडे और एक टी20 वर्ल्ड कप खेला. वर्ष 2003 में सहवाग वर्ल्ड कप फाइनल खेले जहां टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया से हार झेलनी पड़ी. इसके बाद वर्ष 2007 में तो टीम इंडिया लीग राउंड से ही बाहर हो गई. इसके बाद वर्ष 2011 में इंडियन टीम वर्ल्ड कप जीती जिसमें सहवाग ने 47.50 के औसत से 380 रन बनाए जिनकी चर्चा होता रहता है.

 

घरेलु नुस्खे : शक्तिशाली बेल के पत्ते जिससे बीमारियां भी घबराती है

 

Virendra Sehwag Hindi News, हिंदी न्यूज़, Latest News in Hindi, Sehwag Latest Hindi News, Hindi News Headlines, हिन्दी ख़बर, Virendra Sehwag Breaking News in Hindi, news headlines in hindi, Virendra Sehwag Taja Samachar, Hindi Samachar, Cricket Player Viru

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

भारत के जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में रचा इतिहास


भारत के जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में रचा इतिहास

इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच हो रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय गेंदबाजों ने एक अच्छा प्रदर्शन कर टीम इंडिया की वापसी करवा दी है. आपको बता दें कि, दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक भारतीय गेंदबाजों ने 189 रन पर वेस्टइंडीज को आठ बड़े झटके दे दिए. इसमे ईशांत शर्मा को पांच सफलता मिली, तो वहीं जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और रवीन्द्र जडेजा को एक-एक सफलता मिली.

 

तेल के साथ से फिर सुधर सकती है देश की अर्थव्यवस्था, PM Modi

 

बताया जा रहा है कि बुमराह को अभी तक डैरेन ब्रावो के रूप में एक मात्र सफलता मिली है, लेकिन उन्होंने  इस एक विकेट से ही वेंकटेश प्रसाद और मोहम्मद शमी का बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया. आपको बता दें कि, 25 वर्षीय डेथ ओवर स्पेशलिस्ट बुमराह ने भारतीय टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज  50 विकेट लेने वाले भारत के पहले तेज गेंदबाज बन गए. बुमराह ने अपने टेस्ट करियर के 11वें मैच में ही इस मुकाम को हासिल किया.

 

बुमराह भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम गेंदों पर 50 विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं. बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट की 2465वीं गेंद पर 50वां विकेट लिया. इससे पहले ये रिकॉर्ड आर अश्विन के नाम पर था. अश्विन ने अपने टेस्ट करियर का 50वां विकेट 2597वें गेंद पर ली थी.

 

मात्र 20 मिनट में पाएं गोरा और चमकदार चेहरा

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास


टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास

क्रिकेट खेल प्रेमियों के लिए ये खास खबर है. दरअसल वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटीगा टेस्‍ट की दूसरी पारी में 5 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अब सब का दिल जीत कर इतिहास रच दिया है. बताया जा रहा है की बुमराह ने दूसरी पारी में 7 रन देकर 5 विकेट लिए.

 

इसे भी पढ़ें: गाने को सुनकर कोई बिस्किट देता था तो कोई पैसा: रानू मंडल

 

इसी के साथ टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में वह ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज में एक ही पारी में 5 विकेट लेने वाले पहले इंडियन गेंदबाज बन गए हैं. बता दें की दूसरी पारी में कार्लोस ब्रेथवेट, जॉन कैंपबेल, डैरेन ब्रावो, शाई होप और जेसन होल्डर बुमराह का शिकार बने. इनमें से भी बुमराह ने ब्रेथवेट को छोड़कर बाकी चारों बल्लेबाजों को सीधा बोल्ड किया और इसके साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट की किसी 1 पारी में 4 बल्लेबाजों को बोल्ड करने वाले पहले इंडियन तेज गेंदबाज बन गए हैं.

 

गौरतलब है कि, विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया ने 318 रनों के अंतर से इस मुकाबले को जीता. पहली पारी में 297 रन बनाने के बाद टीम इंडिया ने 222 रन पर ही वेस्टइंडीज की पहली पारी को समेट दिया था, जिसके बाद इंडियन टीम ने 7 विकेट पर 343 रन पर अपनी दूसरी पारी में जीत के लिए 418 रनों का लक्ष्य रखा. जवाब में कैरेबियाई टीम 100 रन पर ही सिमट गई और इसी के साथ बुमराह ने इतिहास रच दिया जिनकी तारिफ सोशल मीडिया पर जम कर हो रही है.

 

इसे भी पढ़ें: हरे प्याज से हर बीमारी का इलाज

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×