तेल के साथ से फिर सुधर सकती है देश की अर्थव्यवस्था, PM Modi ले सकते हैं बड़ा फैसला


तेल के साथ से फिर सुधर सकती है देश की अर्थव्यवस्था, PM Modi ले सकते हैं बड़ा फैसला

देश की अर्थव्यवस्था में आयी भारी गिरावट के बाद देश की जनता PM मोदी पर संदेह कर रही है की वह देश की अर्थव्यवस्था को सुधार पाएंगे या नहीं। लेकिन इस गिरती अर्थव्यवस्था के बिच कुछ ऐसा हुआ है जिसका केंद्र सरकार बड़ा फायदा उठा सकतीं है।

 

आपको बतादे की शुक्रवार को एक तरफ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था के लिए कई बड़ी घोषणाएं कीं तो दूसरी तरफ क्रूड ऑइल में भी तेज गिरावट आई। अमेरिकी उत्पादों पर चीन की ओर नए टैरिफ की घोषणा के बाद US क्रूड 3% फीसदी से अधिक गिरावट के साथ 53.58 डॉलर प्रति बैरल पर आ गया। ग्लोबल बेंचमार्क ब्रेंट, जोकि भारत के लिए अधिक प्रासंगिक है, 2% फीसदी या 1.19 डॉलर सस्ता होकर 58.75 डॉलर प्रति बैरल रहा।

 

Lakme Fashion Week में हार्दिक पंड्या ने दिखाया जलवा

 

सस्ते तेल से भारत को कैसे फायदा पहुंचेगा वो भी जानिए:-

 

तेल का सस्ता होना भारत की अर्थव्यवस्था के लिए के बहुत बड़ी सौगाद है क्यूंकि यह ग्रोथ को तेजी देने के लिए उठाए गए कदमों को मजबूती देगा। सस्ते तेल की वजह से आयात बिल और सब्सिडी पर खर्च में कमी आती है और इस वजह से करंट अकाउंट डेफिसिट (CAD) और महंगाई नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। सस्ता तेल मांग को बढ़ाता है और किसानों के लिए लागत खर्च को घटाता है, जो सिंचाई के लिए डीजल पंप सेट का इस्तेमाल करते हैं। और सब्सिडी से बचे फण्ड से सामाजिक कल्याण की योजनाओं और इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च के लिए फंड बचता है। इससे आर्थिक गतिविधियां बढ़ती हैं।

 

क्रूड ऑइल में लगातार कमी से सरकार को बजट में प्रति लीटर 2 रुपये टैक्स बढ़ाने का मौका मिल गया, जिससे इस वित्त वर्ष में सरकार के खाते में अतिरिक्त 20 हजार करोड़ रुपये आएंगे। और अगर तेल के दामों में इसी तरह गिरावट आती रही तो एक बार फिर टैक्स कटौती की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

 

झरते बालों को फिर से उगाना है तो इसे खाएं या लगाएं

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×