G-7: गदगद शॉटगन मोदी से बोले, तेरा जादू चल गया


G-7: गदगद शॉटगन मोदी से बोले, तेरा जादू चल गया

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान कांग्रेस का दामन थामने और पटना साहिब से लोकसभा के उम्मीदवार रहे शत्रुघ्न सिन्हा ने हाल ही में G-7 की बैठक में पीएम मोदी द्वारा अनुच्छेद 370 पर जोरदार तरीके से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समक्ष भारत का पक्ष रखने को लेकर एक बार फिर से उनकी तारीफ करते हुए कहा कि “माननीय पीएम मोदी, जब हम सभी अपनी सांस रोककर बैठे थे, उस समय आपने फ्रांस में द्विपक्षीय बैठक G7 में बहुत अच्छी तरह से बातचीत की. अमेरिकी राष्ट्रपति, डोनाल्ड ट्रंप के साथ आपका तालमेल और केमिस्ट्री देखकर सभी को अच्छा लगा. राष्ट्रपति ट्रम्प के जादू और आपके आकर्षण और कूटनीति ने दोनों देशों के बीच संबंधों को और मजबूत करने का अद्भुत काम किया. भले ही वो फिल्म न चली हो लेकिन तेरा जादू चल गया."

 

अब जब पीएम मोदी और ट्रंप के बीच g-7 मीटिंग के दौरान हुई बातचीत पूरी दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खींच रही है तो यहां यहा स्पष्ट करना आवश्यक है कि आखिर मोदी और ट्रंप के बीच ऐसी क्या बात हुई जो दुनियाभर में सुर्खियां बटोर रही हैं. दरअसल, G-7 की बैठक से इतर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने को लेकर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट शब्दों में अमेरिका से कहा था कि “कश्मीर का मुद्दा भारत और पाकिस्तान के बीच बाइलेटरल है. इस पर हम किसी तीसरे देश को कोई भी कष्ट नहीं देना चाहते हैं.” इसके अलावा पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप और मोदी के बीच दोस्ताने माहौल ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा था.

 

इसे भी पढ़ें: आमदनी घटी, फिर भी CEOs की सैलरी 16% बढ़ी

               

इसी को लेकर शॉटगन शत्रुघ्न सिन्हा ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की है. हालांकि यह कोई पहली बार नहीं है जब शत्रुघ्न सिन्हा ने भारत की तारीफ की हो इससे पहले उन्होंने 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने पर पीएम मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कहा था कि ‘यह कश्मीर के विकास और कश्मीरियों के भविष्य के लिए अच्छा निर्णय है. साहस भरा है यह इससे कश्मीर के विकास में सहायता मिलेगी.’

 

सिन्हा का भाजपा की तरफ यह झुकाव एक बड़ा राजनीतिक संकेत दे रहा है. जानकारों का कहना है कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ थामने वाले वरिष्ठ नेता शॉटगन सिन्हा का उनकी मौजूदा पार्टी से मोहभंग सा हो गया है इसलिए वह भाजपा में घरवापसी की संभावनाएं तलाश रहे हैं.

 

कांग्रेस के सिन्हा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के शासनकाल के दौरान केंद्र में मंत्री रह चुके हैं  लंबे समय से बिहार की पटना साहिब सीट से भाजपा के सांसद भी रहे लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की टिकट पर अपनी परंपरागत सीट से ही लड़े और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद से हार गए थे.

 

इसे भी पढ़ें: यह सब्जी नहीं ब्लड बनाने की मशीन है

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×