उत्तर प्रदेश के बजट में रोजगार सृजन पर जोर


उत्तर प्रदेश के बजट में रोजगार सृजन पर जोर

लखनऊ-

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के 2020- 21 के बजट में युवाओं के कौशल विकास और रोजगार पर खास जोर दिया गया है। युवाओं को उद्योगों में प्रशिक्षण के साथ ही मासिक प्रशिक्षण भत्ता देने की घोषणा की गई है। इसके साथ ही अयोध्या में हवाईअड्डा बनाने के लिये 500 करोड़ रुपये और वाराणसी में संस्कृति केन्द्र के लिये 180 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।  प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली योगी सरकार का यह चौथा बजट है। राज्य के कुल 5,12,860.72 करोड़ रुपये के इस बजट में 10,967.87 करोड़ रुपये नई योजनाओं के लिये रखे गये हैं। राज्य का यह अब तक का सबसे बड़ा बजट है। बजट को प्रदेश के युवाओं के कौशल विकास, शिक्षा और रोजगार उपलब्ध कराने को समर्पित किया गया है।  वर्ष 2020-21 के लिये कुल प्राप्तियां 5,00,558.53 करोड़ रुपये अनुमानित हैं। इनमें 4,22,567.83 करोड़ रुपये राजस्व प्राप्तियां और 77,990.70 करोड़ रुपये की पूंजीगत प्राप्तियां शामिल हैं। बजट में 12,302.19 करोड़ रुपये का घाटा अनुमानित है। राज्य के वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने 2020- 21 का यह बजट राज्य विधानसभा में पेश करते हुये कहा कि अयोध्या में उच्च स्तरीय पर्यटक अवस्थापना सुविधाओं के विकास के लिए 85 करोड़ रखे गये हैं।जबकि अयोध्या में हवाई अड्डा बनाने के लिये 500 करोड़ रूपये का प्रस्ताव किया गया है। वहीं, तुलसी स्मारक भवन के नवीकरण के लिए 10 करोड रूपये का प्रावधान बजट में किया गया है। खन्ना ने कहा कि वाराणसी में संस्कृति केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़ रूपये का प्रस्ताव है जबकि काशी विश्वनाथ मंदिर क्षेत्र के विकास के लिए 200 करोड रूपये का प्रावधान किया गया है।उन्होंने बताया कि प्रदेश के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिये मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना’ तथा  युवा उदयमिता विकास अभियान  शुरू किया जायेगा। खन्ना ने बताया कि प्रदेश के युवाओं को उद्योगों और एमएसएमई इकाईयों में रोजगार में रहते हुये प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस दौरान उन्हें निश्चित अवधि के रोजगार से जोड़ने के उददेश्य से हमारी सरकार वित्तीय वर्ष 2020- 2021 से  मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना  को प्रारंभ करने जा रही है। 

 

 

 

 

ये भी पढ़ें-आज दिनभर की बड़ी खबरें | News Headlines | 18th February 2020

 

 

 

 

 

 

योजना के क्रियान्वयन में युवाओं को उद्योगों में प्रशिक्षण के साथ मासिक प्रशिक्षण भत्ता दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि युवाओं को मिलने वाले कुल भत्ते में से 1,500 रूपये केंद्र सरकार द्वारा तथा 1,000 रूपये प्रतिमाह की धनराशि राज्य सरकार देगी। इसके अलावा संबंधित उद्योग भी इसमें अपना योगदान करेगा। इस योजना के लिये 100 करोड़ रूपये की व्यवस्था प्रस्तावित है। खन्ना ने बताया कि प्रदेश के लाखों की संख्या में प्रशिक्षित युवाओं को युवा उदयमिता विकास अभियान (युवा)के तहत रोजगार से स्वालंबन की ओर बढ़ाने के लिये अभिनव पहल की गयी है। प्रदेश के प्रत्येक जिले में वृहद युवा केन्द्र स्थापित किया जायेगा जो इच्छुक युवाओं को परियोजना परिकल्पना से लेकर एक वर्ष तक परियोजनाओं को वित्तीय मदद के साथ संचालन में सहायता उपलब्ध करायेगा। इस तरह के युवा केन्द्रों के माध्यम से यह योजनायें समेकित रूप से क्रियान्वित की जायेंगी। योजना एक लाख से अधिक युवाओं को स्वालंबन की ओर ले जायेगी। प्रत्येक जिले में युवा केन्द्रों के लिये 50 करोड. रूपये का प्रावधान प्रस्तावित है। बजट में मेट्रो नेटवर्क, हवाई अड्डों और एक्सप्रेस वे विकसित करने पर विशेष ध्यान दिया गया है। इसके अलावा मार्च 2021 तक गरीबों के लिये चार लाख मकानों के निर्माण का भी लक्ष्य रखा गया है। कानपुर मेट्रो के लिये 358 करोड़ रूपये, आगरा मेट्रो के लिये 286 करोड़ रूपये, गोरखपुर तथा अन्य शहरों में मेट्रो रेल के लिये 200 करोड़ रूपये का प्रावधान किया गया है।  बजट में मेरठ से प्रयागराज तक लगभग 637 किलोमीटर के देश के सबसे लम्बे गंगा एक्सप्रेस— वे के निर्माण का निर्णय लिया गया है। परियोजना के लिये 2,000 करोड़ रूपये प्रस्तावित हैं। इसी तरह गौतमबुद्धनगर के जेवर में  नोएडा इंटरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के लिये बजट में 2,000 करोड़ रुपये प्रस्तावित हैं।  वित्त मंत्री खन्ना ने बताया कि बजट में तेजाब हमले, बलात्कार, मानव तस्करी तथा हत्या प्रकरणों में पीड़ितों की आर्थिक सहायता के लिये एक मुआवजा कोष योजना  सेंट्रल विक्टिम कंपनसेशन फंड स्कीम का प्रस्ताव किया गया है जिसके लिये 28 करोड़ रूपये रखे गये हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने कानून—व्यवस्था पर जीरो टालरेंस की नीति अपनाई है। कानून के डर से बड़ी संख्या में अपराधी आत्मसमर्पण कर अथवा खुद जमानत निरस्त कर जेल गये हैं। 

 

 

Up budget, employment in up, up news, finance minister, youth in up, उत्तर प्रदेश बजट, रोजगार, यूपी न्यूज, वित्त मंत्री, यूथ इन यूपी।

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

इस मंत्री ने गलती से ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, हुए ट्रोल


इस मंत्री ने गलती से ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, हुए ट्रोल

आज सुबह से सोशल मीडिया पर एक खबर को काफी तेजी से वायरल किया जा रहा है. दरअसल, कर्नाटक में BS येदियुरप्पा के नेतृत्व वाली BJP सरकार के मंत्रियों ने बीते मंगलवार को पद और गोपनीयता की शपथ ली. इस दौरान जब BJP नेता और विधायक मधु स्वामी पद और गोपनीयता की शपथ ले रहे थे, तभी उन्होंने गलती से बतौर मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली. 

 

 

बता दें कि, मधु स्वामी जब शपथ ले रहे थे तो उन्हें मंत्री बोलना था, लेकिन जुबान फिसलने के चलते वह मुख्यमंत्री बोल पड़े. अब इस खबर को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया जा रहा है. खास बात ये है कि इस दौरान CM येदियुरप्पा भी मौके पर मौजूद थे और मधु स्वामी की इस गलती पर मुस्कुरा दिए. इतना ही नहीं येदियुरप्पा ने मधु स्वामी को बाद में गले भी लगाया.

 

गौरतलब है कि, बीते मंगलवार को हुए शपथ ग्रहण समारोह में राज्यपाल वजुभाई वाला ने 17 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलायी. जिन विधायकों को मंत्री पद से नवाजा गया है, उनमें बी. श्रीरमुलु, सीटी रवि, पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केएस ईश्वरप्पा और पूर्व सीएम जगदीश शेट्टार का नाम शामिल है. बता दें कि, येदियुरप्पा के 26 जुलाई को CM बनने के बाद उनके मंत्रिमंडल का यह पहला विस्तार है. उन्होंने 29 जुलाई को विधानसभा में अपनी सरकार का बहुमत साबित किया था. 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

22 वर्ष पहले दफ़न हुए व्यक्ति का नहीं गला शरीर, मिला ज्यों का त्यों


22 वर्ष पहले दफ़न हुए व्यक्ति का नहीं गला शरीर, मिला ज्यों का त्यों

उतर-प्रदेश के बांदा जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, कई लोग इसे देखकर खुदा का करिश्मा मान रहें हैं तो वहीं कई लोग नेक इंसाल का दर्जा दे रहें हैं. बताया जा रहा है कि, यहां 22 वर्ष पहले कब्र मे दफनाए गए एक शख्स का जनाजा ज्यों का त्यों पड़ा मिला है.

 

ये मामला तब सामने आया जब मूसलाधार बारिश के चलते कब्रिस्तान में मिट्टी कटने से एक कब्र धंस गई और उसमें  22 वर्ष पहले दफन एक शख्स का कफन में लिपटा जनाजा़ दिखने लगा. यहां देखते ही देखते मौके पर काफी लोगों पहुंच गए. जब कफन में लिपटी लाश को निकाला गया तो वहां मौजूद सैकड़ों लोग देखकर दंग रह गए. क्योंकि 22 सालों बाद भी लाश ज्यों कि त्यों निकली.

 

फ़िल्म 'द जोया फैक्टर' और अभिनेत्री सोनम कपूर से जुड़ी रोचक बात

 

दरअसल, ये मामला उतर-प्रदेश के जिले बांदा के बबेरू कस्बे के अतर्रा रोड स्थित घसिला तालाब के कब्रिस्तान की है. यहां मूसलाधार बारिश से कई कब्रों की मिट्टी बह गई और एक कब्र में दफन जनाजा़ बाहर दिखने लगा. इसके बाद लोगों ने कब्रिस्तान कमेटी को इसकी जानकारी दी. कब्रिस्तान कमेटी के सदस्‍यों द्वारा जब कब्र की धंसी हुई मिट्टी को हटाकर देखा गया, तो उसमें दफनाया गया जनाजा ज्यों का त्यों पड़ा मिला.

 

गौरतलब है कि, इस कब्र में 22 वर्ष पहले 55 वर्षीय पेशे से नाई नसीर अहमद नाम के शख्स को दफनाया गया था. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, नसीर अहमद पुत्र अलाउद्दीन निवासी कोर्रही, थाना बिसंडा बबेरू में नाई की दुकान थी. उन्‍हें लगभग 22 वर्ष पहले दफन किया गया था. जबकी दूसरी तरफ मृतक नसीर के एक रिश्तेदार बताते हैं कि उनका कोई बेटा नहीं था. 

 

22 वर्ष पहले उनका निधन हुआ था, जिसके बाद उनलोगों ने ही उनके शव को दफनाया था. लेकिन, आज उनका जनाजा मिटटी धंसने की वजह से बाहर निकल आया. न शव ख़राब हुई थी और न ही कफ़न पर कोई दाग लगा था. हालंकी, बाद में स्थानीय मौलानाओं की मौजूदगी में शव को कल देर रात उसे दूसरी कब्र में दोबारा से दफन किया गया.

 

पुराने से पुराने पिंपल्स और झाइयां के दाग को जड़ से मिटाने का नुश्खा

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×