मोदी ने देश को आर्थिक आपातकाल के दौर में झोंका: आनंद शर्मा


मोदी ने देश को आर्थिक आपातकाल के दौर में झोंका: आनंद शर्मा

देश की अर्थव्यवस्था में आर्थिक सुस्ती का दौर चल रहा है जिससे हर कोई परेशान है आम लोगों से लेकर सरकार तक हर कोई इससे जूझ रहा है. स्थिति यह है कि आज पढ़ा लिखा नौजवान नौकरी की तलाश में इधर-उधर भटक रहा है. इसके अलावा देश में तमाम बड़ी-बड़ी कंपनीयां अर्थिक मंदी के कारण अपने-अपने कर्मचारियों को बाहर की रास्ता दिखा रही है. वहीं दूसरी तरफ केंद्र की मोदी सरकार इससे बाहर निकलने के लिए तमाम कोशिशें कर रहीं हैं.

 

इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा केंद्र सरकार को लाभांश और अधिशेष कोष के मद से 1.76 लाख करोड़ रुपये हस्तांतरित किया गया है. जिससे देश की इकॉनमी को एक बूस्ट मिलने का आसार दिख रहा है. लेकिन आरबीआई द्वारा सरकार को पैसा देने के निर्णय को लेकर कांग्रेस ने आज को नरेंद्र मोदी सरकार पर देश को आर्थिक आपातकाल और दिवालियेपन की तरफ धकेलने का आरोप लगाया. कांग्रेस ने कहा कि सरकार एक सप्ताह के भीतर अर्थव्यवस्था की स्थिति पर श्वेतपत्र लाए.

 

इसे भी पढ़ें: तेल के साथ से फिर सुधर सकती है देश की अर्थव्यवस्था

 

पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि RBI से जुड़ा निर्णय इस बात का प्रमाण है कि भारत की अर्थव्यवस्था गहरे संकट में है, लेकिन सरकार लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है.उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा, भारत एक गहरे आर्थिक संकट में है. देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है. GDP निरंतर गिर रही है.

 

अर्थव्यवस्था के सभी सूचकांक नीचे हैं. रुपये का लगातार अवमूल्यन हो रहा है. वास्तव में भारत में बेरोजगारी 20 फीसदी से ऊपर है. हर जानकार अर्थशास्त्री इससे सहमत होगा. लोगों को कर्ज भी नहीं मिल रहा है. देश का निर्यात जहां पांच साल पहले था वहीं अटका हुआ है. इसमें बढ़ोतरी नहीं हुई है. RBI से पैसा लेने का निर्णय खतरनाक है.

 

इसे भी पढ़ें: ये घरेलु उपचार दिलाएंगे डेंगू से राहत

 

इसके अलावा उन्होने कहा, दुनिया में कहीं भी केंद्रीय बैंक अपने फंड का पैसा सरकार को नहीं देता. इससे भारत की अर्थव्यवस्था के गहरे संकट में होने की पुष्टि है. आनंद शर्मा ने कहा, RBI के सभी पुराने गवर्नर ने इसका विरोध किया था. रघुराम राजन ने इसका विरोध किया और उर्जित पटेल ने इस्तीफा दे दिया. ये हालात इस सरकार की नीतियों और बदइंतजामी से पैदा हुए हैं. सरकार कुछ नहीं कर रही है. उन्होंने दावा किया, सरकार घाटे में है, बजट गलत बना दिया.  

 

खास बात यह है कि इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी आरबीआई द्वारा सरकार को दिए गए फंड पर सवाल उठाते हुए कहा था कि सरकार आरबीआई के खजाने पर डाका डाल रही है.

 

 

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×