हरी सब्जियों का सेवन करने से पहले ध्यान दें, नहीं तो पड़ सकते हैं बीमार


हरी सब्जियों का सेवन करने से पहले ध्यान दें, नहीं तो पड़ सकते हैं बीमार

आज के समय में हरी साग सब्जियों का सेवन करना स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक है. क्योंकि हरी साग सब्जियों में पोषण तत्व भरपूर मात्रा में प्राप्त होता है. मगर क्या आप जानते हैं हमारे लिए बाजार में मिलने वाली अधिकतर सब्जियां केमिकलयुक्त हैं. मगर कुछ डॉक्टरों का कहना है कि केमिकल का प्रभाव कम करने के लिए बनाने से पहले 2 घंटे तक सब्जियों को गर्म पानी में रखना चाहिए. इससे सब्जियों के पोषक तत्व भी बरकरार रहेंगे और केमिकल का असर भी कम हो सकेगा. यह बात कानपुर स्थित सीएसए के पूर्व वैज्ञानिक डॉ. उदित नारायण ने कही है.

 

आपको बता दें कि, चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में पर्यावरण अनुकूलन एवं टिकाऊ खेती के पादप स्वास्थ्य प्रबंध विषय पर आयोजित दो दिवसीय नेशनल कॉन्फ्रेंस के अंतिम दिन बीते मंगलवार को देश भर से आए कृषि वैज्ञानिकों ने खेती में जैविक रसायनों के प्रयोग पर बल दिया. दूसरी तरफ डॉ. उदित ने बताया कि अगर कोई मां केमिकलयुक्त सब्जी खाकर बच्चे को स्तनपान कराती है तो बच्चे पर भी इसका असर पड़ता है.

 

Breaking News : राखी सावंत ने अपने जन्मदिन पर पीएम मोदी से मांगा ख़ास गिफ्ट

 

अंधाधुंध रसायनों के प्रयोग से पोषक तत्वों के साथ सब्जी का स्वाद भी समाप्त हो जाता है. बताया कि किसानों को मौसम के पूर्वानुमान को जानना चाहिए ताकि मौसम की मार से फसल बचाई जा सके. कीटनाशकों की जगह ट्राइकोडर्मा और नीम के सत जैसे जैविक उत्पादों का प्रयोग करना चाहिए. संस्थान की डॉ. पूनम सिंह, डॉ. खलील खान, डॉ. यूके त्रिपाठी आदि मौजूद रहे.

 

इसके अलावा डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय समस्तीपुर के वैज्ञानिक डॉ. कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि किसान फसलों की पैदावार बढ़ाने के लिए अंधाधुंध रसायनों का प्रयोग कर रहे हैं. इन प्रतिबंधित रसायनों से उपजी फसल तमाम बीमारियों को जन्म दे रही है. इन फसलों के सेवन से पीढ़ी दर पीढ़ी आनुवांशिक बीमारी हो सकती है.

 

इसलिए किसानों को खेती में पुरानी पद्धति अपनानी चाहिए. गोबर खाद का प्रयोग करना चाहिए. फसल चक्र का पालन करना चाहिए. इसके अलावा उन्होने बताया कि प्रतिबंधित रसायन मृदा मित्र कीटों को खत्म कर देते हैं जबकि ये कीट पौधे के विकास में अहम भूमिका निभाते हैं. जिन किसानों केपास साधन नहीं हैं, वे पुरानी पद्धति अपनाकर जीरो बजट खेती कर सकते हैं.

 

घरेलु नुस्खे : वजन घटाने का सबसे आसान और सुरक्षित तरीका

 

Gharelu nuskha, Home remedy, eating habit, Hindi News, हिंदी न्यूज़, Latest News in Hindi, Latest Hindi News, Hindi News Headlines, हिन्दी ख़बर, Breaking News in Hindi, Breaking Hindi News, Hindi Newspaper, headlines in hindi, news headlines in hindi, Taja Samachar, Hindi Samachar

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

बालों का झड़ना और डैंड्रफ के घरेलु उपाय


बालों का झड़ना और डैंड्रफ के घरेलु उपाय

दोस्तों आज जो नुस्खा मैं आपके लिए लेकर आया हूँ वो है बालों का झड़ना, बालों में डैंड्रफ, रूखापन और असमय सफ़ेद होने जैसे समस्या के उपाय के सम्बन्ध में।

सबसे पहले हमें चाहिए : 

  • 2 चम्मच दही
  • 1 चम्मच निम्बू का रस
  • 1 मुठ्ठी करी पत्ता
  • 1 मुठ्ठी भृंगराज के पत्ते

अब क्या करें की करी पत्ता और भृंग राज के पत्ते को कूट पिस कर बारीक़ पाउडर बना लें फिर इसमें दही और निम्बू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें।

अब आप इसे अपने बालों में अच्छे तरह से लगा कर 25 – 30 मिनट छोड़ दें।

 

 

फिर सैम्पू से बाल धो कर नाहा लें। इस विधि को वीक में एक बार लगातार करने से आपके बालों की सभी समस्याएँ जैसे बालों में रुसी, डैंड्रफ, बालों का रूखापन, बाल झाड़ना, असमय सफ़ेद होना आदि ख़त्म हो जाते हैं।

 

दोस्तों ये घरेलु उपाय है जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है इसलिए आप इसे बिना किसी संकोच के इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि पुराने ज़माने के लोग इन्हीं विधियों का यूज करते थे और उनका बाल 50 साल तक सफ़ेद नहीं होता था। दोस्तों उपरोक्त औषधियों में पाए जाने वाले तत्व से हमारे बाल न केवल मजबूत होते हैं बल्कि बालों में चमक सायनिंग भी आता है।

 

तो दोस्तों ये था हमारा आज का बालों से सम्बंधित स्पेशल रेमेडी और ये उपाय आपको कैसा लगा आप हमें कमेन्ट करके जरुर बताएं और अगर अच्छा लगा हो तो ज्यादा से ज्यादा लाइक करें शेयर करें और हमारे चैनल को सब्सक्राइब कर लें व घंटी को दबा कर आल पर क्लिक कर दें।

 

दोस्तों मैं हमेशा के तरह यही चाहता हूँ की आप सभी स्वस्थ्य रहें सुखी रहें और आपको डॉक्टर के पास न जाना परे इसी शुभकामनाओं के साथ नमस्कार धन्यवाद।

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

जाने खड़े होकर खाना खाने के नुकसान | Healthy Life Tips


जाने खड़े होकर खाना खाने के नुकसान | Healthy Life Tips

घरेलु नुस्खा चैनल में आप सभी का एकबार फिर से स्वागत है. दोस्तों आज जिस टॉपिक पर मैं बात करने वाला हूँ वो है खड़े हो कर खाना खाने के नुक्सान। जी हाँ दोस्तों आज कल ये चलन हो गया है. वेस्टर्न लिफ़ स्टाइल के कारन लोग पार्टी में खड़े होकर खाना खाना स्टैण्डर्ड समझते हैं. और नीचे ज़मीं पर बैठ कर खाना खाने वालों को लोग गवार समझते हैं.

 

लेकिन अब ये एक रिसर्च में ये साफ़ हो गया है और वैज्ञानिकों ने भी ये मान लिया है के खड़े होकर खाना खाने से बहुत सारे नुक्सान होते हैं. खड़े होकर खाने से आपका पाचन तंत्र ख़राब होने लगता है और इतना ही नहीं, आपको खाने में स्वाद भी नहीं मिलता है. और जब आपको खाने में स्वाद नहीं लगेगा तो आपका खाने से भी मन उठता चला जायेगा.

 

जिससे आपके लिवर पर भी असर हो सकता है और आपका हॉर्मोन सिस्टम भी कमजोर हो सकता है, साथ ही आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो सकता है. जी हाँ दोस्तों, जैसे हमारे पूर्वज पालथी मार कर खाना खाया करते थे, अगर आप भी वही तरीका अपनाएं तो न केवल आपके शरीर में खाना लगता है बल्कि आपको भोजन करने में भी रूचि बनी रहती है. रुखा सूखा खाना भीं आपको स्वादिष्ट लगने लगता है.

 

पूरी रिसर्च पढ़ें: जाने खड़े होकर खाना खाने के नुकसान

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×