पीवी सिंधू का विलेन बना कोरोना वायरस, खेल मंत्री से फोन करके मांगी सलाह


पीवी सिंधू का विलेन बना कोरोना वायरस, खेल मंत्री से फोन करके मांगी सलाह

नई दिल्ली-

कोरोना खतरे को लेकर शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने लंदन से खेल मंत्री किरेन रीजीजू को फोन करके सलाह मांगी कि क्या उन्हें आल इंग्लैंड चैम्पियनशिप में खेलना जारी रखना चाहिए। गौरतलब है कि बैंडमिंटन की प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में से एक है ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप। रीजीजू ने सिंधू को निर्देश देते हुए कहा कि आप खेलना जारी रखें और उस देश में जारी सुरक्षा दिशानिर्देशों का पालन करें। खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय महासंघों को स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों का पालन करने को कहा था।

 

ये भी पढ़ें- दिल्ली में आईपीएल मैच नहीं खेला जाएगा : सिसोदिया

 

रीजीजू ने यहां भारतीय खेल प्राधिकरण की आम बैठक के बाद मीडिया से कहा, सिंधू ने मुझे फोन किया और मैंने उसे कहा कि जो देश के बाहर महत्वपूर्ण टूर्नामेंट जैसे ओलंपिक क्वालीफिकेशन में भाग ले रहे हैं, वे खेलना जारी रख सकते हैं लेकिन उन्हें उन संबंधित देशों के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए। उन्हें भी कुछ सुरक्षा संबंधित उपाय अपनाने चाहिए।  रीजीजू ने कहा, मैंने विदेश में खेल रहे खिलाड़ियों को कहा था कि जो विदेश में खेल रहे हैं, उन्हें खेलना जारी रखना चाहिए। उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री खुद हालात की निगरानी रख रहे हैं। हम बहुत गंभीर है। लोगों का स्वास्थ्य चिंता का विषय है और सरकार ने फैसला किया है कि किसी भी कार्यक्रम में ज्यादा संख्या में लोग एकजुट नहीं हों।

 

ये भी पढ़ें-बिना दर्शक खेले जाएंगे एकदिवसीय मैच

 

किरन रीजीजू ने कहा कि जिन भारतीय खिलाड़ियों ने उन सात चिन्हित देशों में होने वाले टूर्नामेंट में भाग लिया है और साथ ही उन देशों से यहां टूर्नामेंट में भाग लेने के लिये आने वाले खिलाड़ियों को अनिवार्य रूप से पृथक रखना होगा। उन्होंने कहा, वे भारतीय खिलाड़ी हो या फिर विदेशी खिलाड़ी, उन्हें पृथक रखना होगा। ये सात चिन्हित देश चीन, ईरान, दक्षिण कोरिया, इटली, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी हैं।

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

भारत के जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में रचा इतिहास


भारत के जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट में रचा इतिहास

इंडिया और वेस्टइंडीज के बीच हो रहे पहले टेस्ट मैच में भारतीय गेंदबाजों ने एक अच्छा प्रदर्शन कर टीम इंडिया की वापसी करवा दी है. आपको बता दें कि, दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक भारतीय गेंदबाजों ने 189 रन पर वेस्टइंडीज को आठ बड़े झटके दे दिए. इसमे ईशांत शर्मा को पांच सफलता मिली, तो वहीं जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और रवीन्द्र जडेजा को एक-एक सफलता मिली.

 

तेल के साथ से फिर सुधर सकती है देश की अर्थव्यवस्था, PM Modi

 

बताया जा रहा है कि बुमराह को अभी तक डैरेन ब्रावो के रूप में एक मात्र सफलता मिली है, लेकिन उन्होंने  इस एक विकेट से ही वेंकटेश प्रसाद और मोहम्मद शमी का बड़ा रिकॉर्ड तोड़ दिया. आपको बता दें कि, 25 वर्षीय डेथ ओवर स्पेशलिस्ट बुमराह ने भारतीय टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज  50 विकेट लेने वाले भारत के पहले तेज गेंदबाज बन गए. बुमराह ने अपने टेस्ट करियर के 11वें मैच में ही इस मुकाम को हासिल किया.

 

बुमराह भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम गेंदों पर 50 विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं. बुमराह ने टेस्ट क्रिकेट की 2465वीं गेंद पर 50वां विकेट लिया. इससे पहले ये रिकॉर्ड आर अश्विन के नाम पर था. अश्विन ने अपने टेस्ट करियर का 50वां विकेट 2597वें गेंद पर ली थी.

 

मात्र 20 मिनट में पाएं गोरा और चमकदार चेहरा

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास


टेस्ट क्रिकेट में जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास

क्रिकेट खेल प्रेमियों के लिए ये खास खबर है. दरअसल वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटीगा टेस्‍ट की दूसरी पारी में 5 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने अब सब का दिल जीत कर इतिहास रच दिया है. बताया जा रहा है की बुमराह ने दूसरी पारी में 7 रन देकर 5 विकेट लिए.

 

इसे भी पढ़ें: गाने को सुनकर कोई बिस्किट देता था तो कोई पैसा: रानू मंडल

 

इसी के साथ टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में वह ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज में एक ही पारी में 5 विकेट लेने वाले पहले इंडियन गेंदबाज बन गए हैं. बता दें की दूसरी पारी में कार्लोस ब्रेथवेट, जॉन कैंपबेल, डैरेन ब्रावो, शाई होप और जेसन होल्डर बुमराह का शिकार बने. इनमें से भी बुमराह ने ब्रेथवेट को छोड़कर बाकी चारों बल्लेबाजों को सीधा बोल्ड किया और इसके साथ ही वह टेस्ट क्रिकेट की किसी 1 पारी में 4 बल्लेबाजों को बोल्ड करने वाले पहले इंडियन तेज गेंदबाज बन गए हैं.

 

गौरतलब है कि, विराट कोहली की अगुआई में टीम इंडिया ने 318 रनों के अंतर से इस मुकाबले को जीता. पहली पारी में 297 रन बनाने के बाद टीम इंडिया ने 222 रन पर ही वेस्टइंडीज की पहली पारी को समेट दिया था, जिसके बाद इंडियन टीम ने 7 विकेट पर 343 रन पर अपनी दूसरी पारी में जीत के लिए 418 रनों का लक्ष्य रखा. जवाब में कैरेबियाई टीम 100 रन पर ही सिमट गई और इसी के साथ बुमराह ने इतिहास रच दिया जिनकी तारिफ सोशल मीडिया पर जम कर हो रही है.

 

इसे भी पढ़ें: हरे प्याज से हर बीमारी का इलाज

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×