कोरोना वायरस से बचने के लिए चीन के लोग खा रहे हैं कछुए की मीट


कोरोना वायरस से बचने के लिए चीन के लोग खा रहे हैं कछुए की मीट

दोस्तों इस समय चीन कोरोना वायरस के चलते आपातकाल स्थिति से जुझ रहा है. कोरोना वायरस का अभी तक कोई ठोस इलाज नहीं तैयार हो पाया है. ऐसे में चीनी अपने दादी-नानी के नुस्खों पर दोबारा लौटने लगे हैं. खुद डाक्टर भी इस वायरस से बचाव के लिए परंपरागत इलाज के इस्तेमाल पर जोर देने को कह रहे हैं.


बता दें कि कोरोना वायरस का कोई ठोस टीका तैयार नहीं होने की वजह से अब चीनी डाक्टर तक पुराने नुस्खों को अपनाना शुरू कर चुके हैं. ऐसे में अब चीन के सभी अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को कछुए का मीट खिलाया जा रहा है. इसपर चीनी वैज्ञानिकों का कहना है कि इस संक्रमण की वजह से शरीर में ताकत की कमी हो रही है. ऐसे में कछुए का मीट शरीर को हाई प्रोटीन उपलब्ध कराता है.

 

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चीन के जिन अस्पतालों में कोरोना वायरस के मरीज हैं उन सभी में रात को डिनर में अनिवार्य रूप से कछुए का मीट परोसा जा रहा है. प्राप्त जानकारी के अनुसार वायरस से संक्रमित लोग अब एलोपैथी दवाओं से ज्यादा अपने पुराने इलाज पद्धति पर ज्यादा भरोसा कर रहे हैं. इन दिनों बैल के सींग का चूरा और अन्य हर्बल दवाओं का ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है.

 

चीन में देसी दवाओं की दुकानों में अन्य मेडिकल स्टोर्स के मुकाबले ज्यादा भीड़ होने लगी है. WHO का दावा है कि अब कोरोना वायरस फैलने की दर में कमी आने लगी है. इस संक्रमण के खत्म होने की जल्द घोषणा हो सकती है. इसके अलावा कोरोना वायरस से लड़ने के लिए टीके तैयार हो चुके हैं. इन टीकों का जल्द क्लिनिकल ट्रायल शुरू होने वाला है.

 

 

कोरोना वायरस, Wuhan Coronavirus, global emergency, Corona virus, china, चीनी वैज्ञानिक, WHO, कोरोना वायरस के मरीज

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×