पूरे देश में जल्द लागू हो सकता है सीटीजन कॉप एप


पूरे देश में जल्द लागू हो सकता है सीटीजन कॉप एप

रायपुर में पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो यानी बीपीआर एंड डी ने छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा बनाए गए सिटीजन कॉप एप को खूब सराहा है. ब्यूरो इस पूरे देश में जल्द लागू किए जाने पर विचार कर रहा है. ब्यूरो के डायरेक्टर जनरल वी के एस कौमुडी ने सिटीजन काॅप एप को देश की जरूरत बताई है.

 

 

उन्होंने वन नेशन-वन एप की तर्ज पर इसे लागू किए की अनुशंसा की है. बता दें कि ईओडब्ल्यू चीफ और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जी पी सिंह ने आज दिल्ली में भारत सरकार के अधिकारियों के सामने सिटीजन काॅप एप को लेकर प्रेजेंटेशन दिया था. उन्होंने अपने प्रेजेंटेशन में एप्लीकेशन की मदद से पुलिसिंग में मिल रहे फायदे की सिलसिलेवार जानकारी साझा की थी.

 

 

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जी पी सिंह ने सिटीजन काॅप एप का लाइव डेमोन्सट्रेशन दिखाते हुए बताया कि सिटीजन काॅप एप के जरिए आम जनता ना केवल पुलिस बल्कि प्रशासन से सीधे जुड़ सकता है.

 

 

 उन्होंने कहा कि इस वक्त देशभर में इस तरह के सात-आठ एप्लीकेशन चल रहे हैं, लेकिन इन सबके बीच सिटीजन काॅप एप बेहद काम्प्रेहेंसिव एप माना गया है. जी पी सिंह ने कहा कि यदि कोई एक राज्य से दूसरे राज्य में जाएगा, तो अलग-अलग एप्लीकेशन डाउनलोड की जरूरत पड़ती ह.,

 

 

 इस तरह का एप पूरे देश में लागू कर दिया जाए? उन्होंने कहा कि यह एप हर नागरिक को पुलिस अधिकारी के रूप में कार्य करने की सुविधा देती है. चूंकि इस एप में आम नागरिक के पहचान की को गोपनीय रखता है, लिहाजा अपराधियों के खिलाफ बेखौफ शिकायतें पुलिस को मिल रही है.

 

 

पुलिस के पास पहले से कहीं ज्यादा सूचनाएं आ रही है. जी पी सिंह ने कहा कि सिटीजन काॅप एप ब्रोकन विंडो थ्योरी पर काम करता है. आम नागरिक बड़े अपराधों से नहीं बल्कि छोटे-छोटे अपराधियों से परेशान होते हैं, यदि छोटे अपराधियों पर त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रतिबंध लगा दें, तो बड़ी घटनाएं अपने आप कम हो जाएंगी. सही समय पर अपराध पर लगाम नहीं लगा पाने की वजह से ऐसे तत्वों का मनोबल बढ़ता है और बड़े अपराध के घटित होने की संभावना बढ़ती है.

 

 

पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो के डीजी वी के एस कौमुडी जी पी सिंह के दिए प्रेजेंटेशन की वजह से तमाम तकनीकी पहलू से वाकिफ हुए. यह सेकंड राउंड प्रेजेंटेशन था. तमाम तकनीकी खूबी देखे जाने के बाद उन्होंने इसे देशभर में लागू किए जाने की अनुशंसा की

 

 

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ पुलिस के मोबाइल ऐप “सिटीजन कॉप” को माइक्रो मिशन -03 के तहत बीपीआर एंड डी नई दिल्ली द्वारा चयनित किया गया है. इसकी बारीकी से वाकिफ होने एडीजी जीपी सिंह को आमंत्रित किया गया था. उल्लेखनीय है कि जी पी सिंह ने रायपुर आईजी रहते हुए सिटीजन कॉप मोबाइल एप तैयार किया था, तब इसे रायपुर रेंज में 5 जिलों में लागू किया गया था.

 

 

वर्तमान में सिटीजन कॉप के छत्तीसगढ़ के 1.25 लाख यूजर्स सहित देश भर में 3.5 लाख से अधिक यूजर्स सक्रिय हैं. इस एप के जरिये पुलिस ने लगभग 50 करोड़ रुपए कीमत के 35 हजार चोरी/गुम मोबाइल फोन रिकवर कर उनके मूल मालिकों को लौटाया गया है.

 

 

भारत सरकार द्वारा वर्ष 2016 में प्लेटिनम कैटेगरी में “डिजिटल इंडिया अवॉर्ड” एवम फिक्की द्वारा वर्ष 2015 में “स्मार्ट पोलिसिंग अवॉर्ड” से सम्मानित किया गया है. इस एप की सबसे खास बात यह है कि पिछले साढ़े चार से संचालित एप्प को बनाने अथवा मेंटेनेंस करने में छत्तीसगढ़ सरकार अथवा पुलिस विभाग ने कोई आर्थिक लागत नहीं लगाया है, अर्थात ज़ीरो बजट में संचालित है यह एप.

 

 

केंद्र सरकार से मिल चुका है अवार्ड

 

छत्तीसगढ़ पुलिस द्वारा बनाए गए सिटीजन काॅप एप ने अपने हाईटेक फीचर्स की वजह से इंफाॅरमेशन टेक्नाॅलाजी के क्षेत्र में बनाए गए दूसरे एप को मात दी है. भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग एवं डायरेक्टर जनरल नेशनल इंफाॅरमेशन सेंटर ने सिटीजन काॅप एप को सर्वश्रेष्ठ एप का अवार्ड भी दिया है.

 

 

साल 2016 में देशभर से सभी सरकारी विभागों के बनाए मोबाइल तकनीकी सेवाओं की प्रस्तुति दी गई थी, जिसमें प्रदेश के रायपुर संभाग में बनाए गए सिटीजन कॉप एप को बेस्ट एप का खिताब दिया गया था.

 

 

जानिए सिटीजन कॉप एप के प्रमुख फीचर्स

 

Report an Incident फीचर- इसके माध्यम से अपनी पहचान बिना बताए अपने क्षेत्र और समाज में हो रहे विभिन्न प्रकार के अपराध जैसे चोरी, हत्या, लूट, शोषण, छेड़खानी, ट्रैफिक समस्या से जुड़ी सूचनाएं सीधे पुलिस को उपलब्ध करा सकते हैं.

 

 

Call Police और Call Administration फीचर- इसके माध्यम से आम जनता प्रदेश के विभिन्न जिलों के प्रमुख पुलिस अधिकारियों, थाना प्रभारियों के साथ सीधे जुड़ सकती है. साथ ही जिला प्रशासन के प्रमुख अधिकारियों से भी समन्वय स्थापित कर सकती है.

 

 

My Safe Zone और sos फीचर- इसके माध्यम से गूगल मैप पर सुरक्षा घेरा बनाया जा सकता है. बच्चों तथा नजदीकी रिश्तेदारों की सुरक्षा की निगरानी की जा सकती है. चिन्हांकित घेरा से बाहर जाते ही संदेश प्राप्त होगा.आकस्मिक परिस्थिति में संकट के समय SoS (Help Me) के माध्यम से एक क्लिक पर अपने 04 नजदीकी रिश्तेदारो व पुलिस को सूचना दी जा सकती है. सूचना प्राप्त होते ही पुलिस द्वारा आवश्यक सहयोग/सुरक्षा प्रदान की जाती है

 

 

Travel Safe फीचर- इसके माध्यम से आम नागरिक अपने सुरक्षित यात्रा की सुनिश्चितता पूर्व निर्धारित कर सकता है.

 

 

Report Lost Article फीचर- इसके माध्यम से किसी भी प्रकार के दस्तावेज और सामग्री खो जाने अथवा चोरी होने की स्थिति में पुलिस थाना जाए बिना ही अपनी सूचना दर्ज कराते हुए ई-मेल के माध्यम से पावती प्राप्त की जा सकती है.

 

 

 Vehicle Search फीचर- इसक के माध्यम से किसी भी वाहन के रजिस्ट्रेशन नंबर से उसके मालिक व वाहन संबंधी पूर्ण जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

 

 

Nearby Places फीचर- इसके माध्यम से पुलिस द्वारा समय-समय पर जारी सूचनाओं को सीधे अपने मोबाईल पर प्राप्त किया जा सकता है.अपने नजदीकी स्थल जैसे पुलिस थाना, बस स्टैण्ड, बैक, एटीएम, अस्पताल, डॉक्टर, मूवी-थियेटर, रेस्तरां और पेट्रोल पम्प की जानकारी लोकेशन व दूरी सहित प्राप्त की जा सकती है.

 

 

My Close Group फीचर-  इसके माध्यम से अपने नजदीकी रिश्तेदारों, परिजन व अन्य लोगों का समूह बनाकर गूगल मैप में उनका लोकेशन प्राप्त किया जा सकती है.

 

 

Towing Vehicle Search फीचर- इसके माध्यम से नो-पार्किंग में खडे किये वाहनों, लावारिस वाहनों और एक्सिडेंटल वाहनों को पुलिस द्वारा क्रेन से उठाने की स्थिति में वाहन की जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

 

 

Verification/Inform Police फीचर- इसके माध्यम से घरेलु नौकर/नौकर, किरायेदार, सीनियर सिटीजन व शहर से बाहर जाने की जानकारी पुलिस थाना जाए बिना ही दिया जा सकता है, साथ ही चरित्र सत्यापन प्राप्त करने में समय की बचत होगी.

 

 

Track My Location फीचर- इसके माध्यम से आम नागरिक अपना वर्तमान लोकेशन जान सकता है.

 

 

Fare Calculation फीचर- इसके माध्यम से आम नागरिक दो स्थानों के बीच की दूरी व आटो रिक्शा के किराया की गणना स्वयं कर सकता है.

 

 

Your Reports फीचर- इसके माध्यम से सिटीजन काॅप के उपयोगकर्ता द्वारा पुलिस को दिये सूचना/शिकायत पर की गई पुलिस कार्यवाही की जानकारी हासिल कर सकता है साथ ही अपना फीडबैक भेज सकता है.

 

 

Reports Lookup फीचर- इसके माध्यम से किसी भी उपयोगकर्ता द्वारा किये गये शिकायत पर पुलिस कार्यवाही की जानकारी हासिल कर सकता है.

 

 

 

 

Reports Lookup,Your Reports ,Track My Location,Verification/Inform Police,Fare Calculation, Towing Vehicle Search,Fare Calculation ,My Close Group,Report an Incident,Raipur, One Nation-One App, Police Research and Development Bureau, Citizen Cap App, Chhattisgarh Police

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

Senior Citizen Tiffin Seva

Viral अड्डा

  • news
  • news
  • news
  • news
-

वायरल न्यूज़

×