ISRO से आयी बड़ी खबर, सही सलामत है लैंडर विक्रम


ISRO से आयी बड़ी खबर, सही सलामत है लैंडर विक्रम

'चंद्रयान-2' जिसकी सफलता के लिए अभी भी पूरा हिंदुस्तान प्रार्थना कर रहा है उसी से जुडी एक बहुत बड़ी खबर सामने आयी है। ISRO के एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया है की विक्रम लैंडर पूर्वनिर्धारित जगह के करीब ही पड़ा है। बड़ी बात यह है कि उसमें कोई टूट-फूट नहीं हुई है और पूरा भाग चांद की सतह पर थोड़ा टेढ़ा पड़ा है।

 

उन्होंने सोमवार को बताया, 'विक्रम ने हार्ड लैंडिंग की है और ऑर्बिटर के कैमरे ने जो तस्वीर भेजी है, उससे पता चलता है कि वह निर्धारत स्थल के बिल्कुल करीब पड़ा है। विक्रम टूटा नहीं है और उसका पूरा हिस्सा सुरक्षित है।' इस बड़ी खबर के बाद सूचना यह मिल रही है की अब विक्रम लैंडर से संपर्क करने की संभावना 60% से 70% हो गयी है।

 

यह भी पढ़ें: राखी की ट्रांसपेरेंट ड्रेस पर आया उनके पति को गुस्सा। वीडियो शेयर करते हुए रो-रो के बेहाल हुयी राखी सावंत

 

ISRO के पूर्व चीफ माधवन नायर ने यह जानकरी मिलने पर कहा कि विक्रम से दोबारा संपर्क साधे जाने की अब भी 60 से 70 प्रतिशत संभावना है। वहीं, वैज्ञानिक और डीआरडीओ के पूर्व संयुक्त निदेशक वीएन झा ने भी कहा कि किसी भी दिन इसरो सेंटर का विक्रम से संपर्क जुड़ सकता है।

 

लेकिन ख़ुशी से भरी इस खबर के बिच एक चिंताजनक बात भी है, ISRO के ही एक अफसर ने कहा है की अगर लैंडर विक्रम का एक भी पुर्जा या हिस्सा थोडासा भी खराब हुआ होगा तो विक्रम से संपर्क करना काफी मुश्किल या साफ़ शब्दों में कहे तो नामुमकिन हो सकता है। लेकिन उन्होंने भी अब तक की स्थिति को 'अच्छा' बताया है।

 

यह भी पढ़ें: सफ़ेद दाग के अचूक नुस्खे | Vitiligo Treatment In Hindi

 

चंद्रयान-2 चाहे पूरी तरह अभी तक सफल नहीं होपाया हो लेकिन ऑर्बिटर द्वारा मिली थर्मल इमेज से यह तो साफ़ होगया है की चाँद पर साउथ पोल में अपना यान लैंड कराने वाला हिंदुस्तान विश्व का पहला देश है।

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×