चाँद के और ज्यादा करीब पहुंचा चंद्रयान-2, जाने आगे और क्या-क्या आएगी चुनौतियां


चाँद के और ज्यादा करीब पहुंचा चंद्रयान-2, जाने आगे और क्या-क्या आएगी चुनौतियां

ISRO द्वारा दी गयी एक नई अपडेट में ISRO ने बताया है की आज बुधवार को चंद्रयान-2 को चंद्रमा की तीसरी कक्षा में प्रवेश करा दिया गया है। इसरो के वैज्ञानिकों ने चंद्रयान-2 को चांद की तीसरी कक्षा में सुबह 09.04 बजे प्रवेश कराया। बता दें की चंद्रयान-2 ने 20 अगस्त को चंद्रमा की पहली जबकि 21 अगस्‍त को दूसरी कक्षा में प्रवेश किया था।

 

अब चंद्रयान-2 को चाँद पर पहुंचने के लिए सबसे मुश्किल पड़ाव पार करना होगा। मिशन का अगला जरूरी पड़ाव दो सितंबर को होगा, जब Vikram Lander ऑर्बिटर से अलग हो जाएगा। इसके बाद लैंडर विक्रम अपने भीतर मौजूद प्रज्ञान रोवर को लेकर चांद की ओर बढ़ना शुरू करेगा। और इसमें सबसे बड़ी चुनौती यान की गति को कम करने के साथ साथ आर्बिटर को भी नियंत्रित करने की होगी। यानी वैज्ञानिकों को एक साथ आर्बिटर और लैंडर विक्रम की सटीकता के लिए काम करते रहना होगा।

 

इसे भी पढ़ें: कश्मीर भारत का अंग है, हिंसा बंद करे पाक: राहुल गांधी

 

07 सितंबर को तड़के 1:55 बजे लैंडर विक्रम चंद्रमा के साउथ पोल पर लैंड करेगा। विक्रम लैंडर दो गड्ढों, मंजि‍नस सी और सिमपेलियस एन के बीच वाले मैदानी हिस्‍से में लगभग 70° दक्षिणी अक्षांश पर सफलतापूर्वक लैंडिंग करेगा। चंद्रमा की सतह पर लैंडिंग के वक्‍त लैंडर विक्रम की रफ्तार दो मीटर प्रति सेकंड होगी। इस दौरान 15 मिनट बेहद तनावपूर्ण होंगे। सुबह 3.55 बजे लैंडिंग के करीब दो घंटे के बाद लैंडर विक्रम से छह पहियों वाला प्रज्ञान रोवर चांद की सतह पर उतरेगा।

 

सारी गतिविधियां सही तरीके से पूरी होने के बाद लैंडर विक्रम से छह पहियों वाला प्रज्ञान रोवर चांद की सतह पर उतरेगा। और फिर रोवर का सोलर पैनल खुलेगा जिसके जरिए उसे काम करने के ऊर्जा मिलेगी। यात्रा शुरू करने के 15 मिनट के भीतर ही इसरो को लैंडिंग की तस्वीरें मिलनी शुरू हो जाएंगी।

 

इसे भी पढ़ें: गर्मी में चेहरे को धुप में काला होने से बचने का आसान उपाय

 

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×