86 साल की हुईं सुरों की मल्लिका आशा भोसले


86 साल की हुईं सुरों की मल्लिका आशा भोसले

बॉलीवुड में सुरों की मल्लिका आशा भोसले का आज 86 जन्मदिन मनाया जा रहा हैं। आशा जी का जन्म 1933 में महाराष्ट्र के एक छोटे से गांव सांगली में हुआ था। आशा जी ने 10 साल की उम्र से ही गायकी शुरू कर दी थी। हिंदी फिल्मों में उन्होंने गायन की शुरुआत 1948 में रिलीज हुई फिल्म चुनरिया से की थी।

 

हंसराज बहल के संगीत निर्देशन में उन्होंने 'सावन आया' गीत गाया था। कहा जाता है कि आशा ने एक हजार से भी ज्यादा फिल्मों में गाने गाए हैं। गिनीज बुक के हिसाब से आशा भोसले ने सबसे अधिक गाने गाए हैं। भारत सरकार द्वारा आशा भोसले को दादा साहेब फाल्के और पद्म विभूषण अवार्ड से नवाजा जा चुका है। आशा भोसले ने एक फिल्म 'माई' में अभिनय भी किया है। उनकी अदाकारी के लिए उनकी प्रशंसा भी हुई थी।

 

इसे भी पढ़ें: जानें क्या है 'Alia Bhatt और Ranbir Kapoor' की शादी का सच्च

 

आशा भोसले के शुरुआती दौर में गीता बाली, शमशाद बेगम और लता मंगेशकर जैसे बड़े नाम गायिकी की दुनिया में छाए हुए थे। ऐसे में आशा ताई के हिस्से में इनके द्वारा छोड़े गए गाने ही आते थे। आशा को दूसरे दर्जे की फिल्मों की गायिका समझा जाता था। वैम्प या सहनायिकाओं पर फिल्माए गए गाने ही आशा को गाने के लिए मिलते थे। 16 वर्ष की उम्र में आशा ताई ने 31 साल के गणपत राव भोसले के साथ शादी कर ली थी।

 

गणपत राव, लता मंगेशकर के पर्सनल सेक्रेटरी थे। इस शादी के लता सहित पूरा मंगेशकर परिवार खिलाफ था, लेकिन आशा ने एक नहीं सुनी। इससे लता और आशा के संबंधों में खटास भी आ गई थी और वर्षों तक दोनों में बोल-चाल बंद थी।आपको बता दें, आशा भोसले ऐसी पहली सिंगर हैं जिन्हें उस्ताद अली अकबर खान के साथ एक एलबम के लिए ग्रेमी अवार्ड के लिए नॉमिनेट किया गया था।

 

इसे भी पढ़ें: गर्मी में चेहरे को धुप में काला होने से बचने का आसान उपाय

और पढ़ें »

खास आपके लिए

-
-

रेसिपी

वायरल न्यूज़

×